मेरठ, जेएनएन। निर्भया कांड के चार गुनहगारों को फांसी की तारीख मुकर्रर होते ही पवन जल्लाद के शहर से बाहर जाने पर जेल प्रशासन ने रोक लगा दी है। पवन ने मीडिया को बताया कि एक साथ चारों गुनहगारों को फांसी देने के लिए तैयार हूं। ऐसे दरिंदों को फांसी देकर खुशी मिलेगी। साथ ही दिल को सुकून भी मिलेगा। बता दें कि निठारी कांड के दोषी सुरेंद्र कोली को फांसी देने के लिए पवन जल्लाद का जेल में ट्रायल तक हो चुका था।

मीडियाकर्मियों ने की बात

पूरे देश को हिलाकर रख देने वाले दिल्ली के निर्भया कांड के चार गुनहगारों को फांसी देने के लिए 22 जनवरी की तारीख मुकर्रर कर दी गई है। फांसी के लिए दिल्ली सरकार ने यूपी जेल प्रशासन से पहले ही संपर्क किया था, जिस पर जेल प्रशासन पवन जल्लाद को फांसी देने के लिए तैयार रहने का आदेश दे चुका है। मंगलवार को मीडियाकर्मियों ने पवन के कांशीराम स्थित आवास पर पहुंचकर बातचीत की।

अभी दिया गया सिर्फ मौखिक आदेश

उसका कहना है कि निर्भया के गुनहगारों को फांसी देने के लिए पूरी तरह से मन बना चुका है। चारों आरोपितों को एक साथ फांसी दे सकता हूं। पवन ने कहा कि बस मुझे फांसी से पहले तख्ते और रस्से की जांच करनी होगी। हालांकि पवन का कहना है कि जेल प्रशासन की तरफ से कोई पत्र नहीं दिया गया। सिर्फ तैयार रहने के लिए मौखिक तौर पर कहा गया है।

जनपद से बाहर जाने पर रोक

चौधरी चरण सिंह जिला कारागार के वरिष्ठ जेल अधीक्षक बीडी पांडेय ने कहा कि पवन के जनपद से बाहर जाने पर रोक लगा दी गई है ताकि दिल्ली से बुलावा आने के बाद तुरंत उसे भेजा जा सके। जेल में बुलाकर उससे कुछ कागजात पर भी हस्ताक्षर कराए गए। मंगलवार को दिनभर पवन के घर पर मीडियाकर्मियों का जमावड़ा लगा रहा।

पवन को समझा दी गई थी फांसी की तकनीक

वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने बताया कि पवन को जेल में बुलाकर पहले ही फांसी देने की तकनीक के बारे में जानकारी दी गई थी। रस्सी में गांठ कैसे लगनी है, कैसे फांसी देते समय रस्सी को आसानी से गर्दन के इर्द-गिर्द खींचना है। कैसे फांसी का लीवर सही तरीके से काम करेगा ताकि जिसे फांसी दी जा रही हो, उसे कम से कम कष्ट हो।

इनका कहना है

पहले ही दिल्ली सरकार से पवन जल्लाद के बारे में बात हुई थी। पवन को पूरी तरह से तैयार किया जा चुका है। सरकार के आदेश पर उसे भेज दिया जाएगा। इसलिए पवन के शहर से बाहर जाने पर भी रोक लगा दी गई है।

- आनंद कुमार, डीजीपी जेल 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस