मेरठ । शास्त्रीनगर में दुकान पर कब्जे को लेकर भाजपा और बजरंग दल नेता आमने सामने आ गए थे। पुलिस ने भाजपा नेता की तरफ से मुकदमा दर्ज कर लिया, जबकि दुकान स्वामी की तहरीर पर जांच की जा रही है। पार्टी की फजीहत होते देख कई नेता समझौते को सामने आए। दिनभर दोनों पक्षों को मनाने का दौर चला। उसके बाद भी समझौता नहीं हो पाया।

शास्त्रीनगर एल ब्लाक में रहने वाले मुनीष कौशिक के कुटी चौराहे स्थित कांपलेक्स में भाजपा नेता संजीव शर्मा निवासी चाणक्यपुरी ने दुकान किराए पर ले रखी है। संजीव के बड़े भाई सुनील शर्मा कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल के पीए हैं। संजीव का आरोप है कि दुकान स्वामी मुनीष कौशिक ने दुकान का ताला तोड़कर सामान बाहर फेंक दिया। साथ ही जान से मारने की धमकी दी। संजीव शर्मा की तरफ से मुनीष कौशिक और उनके दो भाइयों के खिलाफ लूट और जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कर लिया। वहीं मुनीष कौशिक की तहरीर पर पुलिस जांच कर रही है। संजीव शर्मा की तरफ से भाजपा नेता और मुनीष कौशिक की तरफ से बजरंग दल नेता सामने आ गए। हालांकि बजरंग दल नेताओं की सिफारिश पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया। मुनीष का आरोप है कि संजीव शर्मा उनकी दुकान पर कब्जा करना चाह रहे है। ऐसे में पार्टी की फजीहत हो रही है, जिसे लेकर मंगलवार को पार्टी के नेता दोनों पक्षों का समझौता कराने में जुट गए। सूत्रों की माने तो संजीव शर्मा ने दुकान खाली करने से इन्कार कर दिया, बल्कि दुकान खरीदारी की बात कही है। मुनीष ने दुकान बेचने से इन्कार कर दिया। यही कारण है कि मंगलवार को समझौता नहीं हो पाया। मनीष कौशिक और संजीव शर्मा दोनों ने बताया कि समझौते को बातचीत चल रही है। संभवत बुधवार तक निर्णय हो जाएगा।

इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने बताया कि विवेचना की जा रही है। पुलिस दोनों तरफ से मिली शिकायत पर निष्पक्ष कार्रवाई करेगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस