सहारनपुर, जागरण संवाददाता। बदमाशों में योगी सरकार का खौफ नजर आ रहा है। उनमें इतनी दहशत है कि वह खुद थाना नागल पहुंचकर सरेंडर कर अपराध से तौबा कर रहे हैं। शनिवार को भी नागल थाने में पहुंचे एक गैंगस्टर ने अपराध नहीं करने की कसम खाई।

दोनों हाथ उठाकर पहुंचा नागल थाने

उमाही कलां गांव निवासी अनीश पुत्र असगर शनिवार को दोनों हाथ उठाकर नागल थाने पहुंचा। बकायदा उसने एक लिखित में प्रार्थना पत्र भी दिया, जिसमें उसने लिखा है कि अब वह ङ्क्षजदगी में कभी भी अपराध नहीं करेगा। अनीश पर नागल, जनकपुरी, मंडी आदि थानों में 13 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। वह नागल थाने का टापटेन बदमाश है। हाल ही में अनीश पर गैंगस्टर लगी थी। एनडीपीएस एक्ट के एक मुकदमे में वांछित होने के कारण पुलिस लगातार दबिश दे रही थी। शनिवार को उसने थाने पर पहुंचकर नागल थाना प्रभारी बीनू चौधरी से कहा कि वह कभी अपराध नहीं करेगा। उसके स्वजन को परेशान नहीं किया जाए। थाना प्रभारी ने बताया कि अनीश को गिरफ्तार कर लिया है। उसे रविवार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा।

इससे पहले भी ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। नागल के अलावा बडग़ांव, देवबंद और अन्य कोतवाली में भी कई बदमाश पूर्व में सरेंडर कर चुके हैं। यहीं नहीं पुलिस के डर से जमानत तुड़वाकर भी अपराधी जेल गए हैं।

30 लोगों के खिलाफ बिजली चोरी की रिपोर्ट दर्ज

सहारनपुर: सरसावा क्षेत्र में बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान में विद्युत विभाग की टीम ने 30 लोगों के खिलाफ अवैध रूप से बिजली चोरी की रिपोर्ट कराई तथा साढ़े तीन लाख बिजली बकाया वसूली की। शनिवार को एसडीओ राजकुमार के नेतृत्व में चार टीमें गठित की गई थी जो कस्बे के अलग-अलग मोहल्लों में भ्रमण करती यह जानने की कोशिश कर रही थीं। इस दौरान टीम ने 30 घरों में बिजली चोरी की रिपोर्ट लिखवा साढ़े तीन लाख रूपये विद्युत बकाया बिल की वसूली की। इस मौके पर जेई शिव कुमार, विजयपाल, मनोज गिरी, धर्मराज चौधरी के अलावा विजय सिंह, विनीत कुमार, हुकम सिंह प्रवीण कुमार,प्रदीप रोहिला आदि बिजली विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे।

 

Edited By: Taruna Tayal