मेरठ। भारतीय जनता पार्टी की कार्यसमिति की बैठक को लेकर हर स्तर पर तैयारी चल रही है। बैठक में प्रदेश सरकार के साथ केंद्र के भी तमाम मंत्री शामिल होंगे। ऐसे में तैयारी की तमाम जिम्मेदारियां संगठन के जिम्मे हैं, जबकि प्रशासन व्यवस्थाओं पर नजर बनाने के साथ सहयोगी की भूमिका में काम करेगा। इसके लिए अधिकारियों की एक टीम भी गठित कर दी गई है।

लोकसभा चुनाव में जीत का मंत्र खोजने के लिए 11 और 12 अगस्त को मेरठ की धरती पर भाजपा महामंथन करेगी। कई मायनों में बेहद खास मानी जा रही इस बैठक को और भी खास बनाने के लिए पश्चिमी क्षेत्र के पार्टी पदाधिकारी रात-दिन एक किए हुए हैं। तमाम व्यवस्थाओं को बेहतर से बेहतर बनाने के लिए टीम बनाकर जिम्मेदारी दी गई है। संगठन का सबसे अधिक ध्यान स्वच्छता पर है। क्योंकि केंद्र और प्रदेश सरकार स्वच्छता को लेकर बड़े स्तर पर अभियान और योजनाएं शुरू किए हुए हैं, ऐसे में बैठक स्थल से लेकर रास्ते और मुख्य चौराहों, सड़कों पर भी शुक्रवार को अभियान चलाकर साफ-सफाई की जाएगी। साथ ही शहर के मुख्य 12 चौराहों पर रंगोली भी सजाई जाएगी। इसके लिए नौ अगस्त की रात से ही रंगोली बनाने का काम शुरू किया जाएगा। रंगोली 1857 की क्रांति से आने वाले अतिथियों को रूबरू कराएगी। उधर, कार्य समिति की बैठक की तमाम बड़ी जिम्मेदारी संगठन ही देख रहा है, प्रशासन के जिम्मे व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के साथ सुरक्षा और ट्रैफिक आदि की जिम्मेदारी होगी। अधिकारी सीधे रूप में किसी भी व्यवस्था में हस्तक्षेप नहीं करेगे।

अतिथियों के विश्राम ने उड़ाई नींद

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ केंद्र और प्रदेश सरकार के तमाम बड़े मंत्री बैठक में शामिल होंगे। इसके अलावा राज्यमंत्री, सांसद, विधायक और पार्टी के पदाधिकारी सहित कुल 670 अतिथि शामिल होंगे। इसके अलावा अतिथियों के साथ आने वाला स्टॉप भी बड़ी संख्या में होगा। इस कारण शहर के तमाम बड़े होटल बुक होने के बाद भी स्थिति विकट हो रही है। संगठन के पदाधिकारियों ने प्रशासन को सूची सौंपकर व्यवस्था बनाने के लिए कहा है।

सड़क से साफ होंगे ब्रेकर

कार्य समिति की बैठक में बड़ी संख्या में अतिथि सड़क मार्ग से आएंगे। उधर, अभी कांवड़ यात्रा संपन्न हुई है और सड़क पर बड़ी संख्या में अस्थाई ब्रेकर बने हुए हैं। ऐसे में अतिथियों को हाने वाली दिक्कत से बचाने के लिए शहर की मुख्य सड़कें और हाईवे से तत्काल ब्रेकर साफ करने के लिए भी निर्देशित किया गया है। इसके लिए पंचायती राज विभाग, लोक निर्माण विभाग, मेरठ विकास प्राधिकरण, नगर निगम, नगर पालिका और पंचायतों को जिम्मेदारी दी गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस