मेरठ, जेएनएन। इस लॉक डाउन में घरों में शिक्षक भी बैठे हैं, तो छात्र भी बैठे हैं। छात्र जहां आनलाइन माध्यमों से पढ़ाई भी कर रहे हैं, वहीं अब चौ. चरण सिंह विश्वविद्यालय के कुछ शिक्षक भी छात्रों को अपने घर से पढ़ाने लगे हैं। वाट्सएप ग्रुप बनाकर तो कांफ्रेसिग के जरिए वह छात्रों के कोर्स को रिवाइज करा रहे हैं। असाइनमेंट भी उपलब्ध करा रहे हैं। वाट्सएप पर सवालों का जवाब

चौ. चरण सिंह विश्वविद्यालय के गणित के शिक्षक प्रो. शिवराज सिंह चौहान इस समय अपने शीलकुंज स्थित आवास पर हैं। 21 दिन के लॉक डाउन में उन्होंने कुछ दिन से एमएससी, एमफिल और वैदिक गणित पढ़ने वाले छात्र- छात्राओं को वाट्सएप पर असाइनमेंट भेज रहे हैं। इसमें छात्र कोर्स को रिवाइज कर रहे हैं। जहां समस्या आ रही है, वाट्सएप ग्रुप पर ही जवाब भी पा रहे हैं। वाट्सएप ग्रुप पर छात्र अपने प्रश्न साल्व करके फोटो खींचकर भेजते हैं। जिसे चेक कर वह आवश्यक सुझाव के साथ वाट्सएप पर जवाब दे देते हैं। प्रो. चौहान बताते हैं कि एमफिल और एमएससी के 15 फीसद कोर्स पूरे हुए थे। इंटरनल एग्जाम शुरू होने वाला था। अब छात्र उन्हीं कोर्स को रिवाइज कर रहे हैं कि अगर यह लॉक डाउन लंबा चलता है तो वाट्सएप ग्रुप पर छात्रों को सिलेबस भी भेजा जाएगा। कांफ्रेसिग से अंग्रेजी की पढ़ाई

विश्वविद्यालय में अंग्रेजी के एसोसिएट प्रोफेसर विकास शर्मा अपने शास्त्रीनगर स्थित आवास से एमए के छात्र- छात्राओं को कांफ्रेसिग के माध्यम से पढ़ा रहे हैं। तीन दिन पहले उन्होंने ग्रुप बनाया है। इसमें 15 छात्र- छात्राएं जुड़े हैं। इसमें वह सुबह 11.30 बजे से 12.30 बजे तक एमए सेकेंड ईयर ओर एक बजे से दो बजकर 30 मिनट तक एमए फोर्थ ईयर के छात्रों को फोन पर ही कोर्स पढ़ा रहे हैं। छात्रों को जहां भी कोई दिक्कत है वह फोन पर ही पूछ रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस