जागरण संवाददाता, बिजनौर। खो खो की नेशनल महिला खिलाड़ी की हत्या को तीन दिन हो गए हैं, लेकिन पुलिस के हाथ अभी कातिल तक नहीं पहुंचे है। हालांकि पुलिस कातिल को पकड़ने के लिए बार-बार एक्सपर्ट से आडियो की जांच करा रही है। अभी तक पुलिस की जांच सौरभ, अंकल व शूकर शब्द पर ही उलझी हुई है।

शुक्रवार को स्टेशन के पास हुई महिला खिलाड़ी की हत्या में पुलिस आडियो से मिले सुराग को महत्वपूर्ण मान कर जांच कर रही है। आडियो बार-बार सुनने के बाद पुलिस अभी तक किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है। कभी पुलिस सौरभ नामक युवकों से पूछताछ कर रही है तो कभी युवती के करीबियों पर हत्या की आशंका जता रही है। तीन दिन से चल रही पड़ताल में पुलिस की जांच में अब एक नया शब्द और जुड़ गया है और यह शब्द हत्या वाले दिन युवती से मोबाइल पर बात कर रहे युवक ने पुलिस को बताया है। बताया गया है कि हत्या से पहले युवती ने किसी को अंकल कहकर संबोधित किया था। इसलिए पुलिस अब युवती के रिश्तेदारों की भी कुंडली खंगाल रही है। इससे पहले पुलिस ने जो आडियो सुनी थी, उसमें सौरभ और शूकर जैसी आवाज सुनाई दी थी। इसलिए पुलिस ने अपनी जांच में गैर संप्रदाय के युवक को भी शामिल कर लिया है। कुल मिलाकर पुलिस के हाथ अभी खाली हैं। उधर, युवती के मोबाइल की तलाश में बीस पुलिसकर्मियों ने पांच घंटे तक स्टेशन के आसपास सर्च अभियान चलाया।

रुपये मिले गायब : स्वजन का आरोप है कि बैग से रुपये गायब हैं। वह अक्सर बैग में ही पैसे रखती थी। स्वजन ने लूट की आशंका भी जताई है। शायद हत्या के बाद कातिल रुपये भी ले गया होगा।

स्टेशन पर खड़ी थी मालगाड़ी : जिस वक्त वारदात हुई। उस वक्त स्टेशन पर मालगाड़ी खड़ी थी। संभावना जताई जा रही है कि इंजन की आवाज में युवती की चीख दब गई होगी।

लखनऊ तक पहुंची हत्याकांड की गूंज : हत्याकांड की गूंज लखनऊ तक पहुंच गई है। डीजीपी ने हत्याकांड की रिपोर्ट तलब की है।

देर रात पहुंचे डीआइजी

डीआइजी शलभ माथुर देर रात बिजनौर पहुंच गए। हत्याकांड को लेकर पुलिस अधिकारियों और टीम से समीक्षा की। सोमवार सुबह घटनास्थल का मुआयना करेंगे और पीड़ित परिवार से मिलेंगे।

खिलाड़ी की हत्या में पुलिस के हत्थे चढ़ा संदिग्ध, मोबाइल की तलाश

नेशनल खिलाड़ी की हत्या में पुलिस के हाथ एक संदिग्ध युवक लग गया है। पकड़े गए युवक से हत्याकांड की कई कड़ी जुड़ गई है। युवक के चेहरे और हाथ पर नाखूनों के निशान हैं। घटना के 15 मिनट बाद लड़की का मोबाइल भी युवक के घर के पास ही बंद हुआ था। पकड़ा गया युवक रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी से रैक उतारने का काम करता है। घटना के समय वह वहीं था। 24 वर्षीय युवक गैर संप्रदाय से ताल्लुक रखता है और नशे का आदी है। वही 50 से अधिक पुलिसकर्मी युवक के घर के आस-पास मोबाइल की तलाश में जुटे हैं। डीआईजी शलभ माथुर कैंप किए हुए हैं। पुलिस का कहना है कि सभी साक्ष्य मिल चुके हैं सिर्फ मोबाइल की तलाश है।  

Edited By: Himanshu Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट