मेरठ, जागरण संवाददाता। दीपक त्यागी की हत्या के दो दिन बाद भी न तो पुलिस मृतक का सिर बरामद कर सकी और न आरोपितों को पकड़ पाई। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने सिर के बिना अंतिम संस्कार नहीं करने का एलान कर दिया था। अधिकारियों ने मृतक के पिता और ग्रामीणों से बात की। उन्होंने कहा कि वे सम्मान के साथ दीपक का अंतिम संस्कार करना चाहते हैं। ग्रामीण और स्वजन अधिकारियों से लगातार सिर लाने की मांग करते रहे। राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने प्रकरण को मुख्यमंत्री के सामने रखने और आरोपितों पर सख्त कार्रवाई कराने का भरोसा दिलाया। इसके बाद शाम को कड़ी सुरक्षा के बीच गांव के श्मशान घाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया। 

यह है मामला 

परीक्षितगढ़ थानाक्षेत्र के गांव खजूरी में धीरेंद्र त्यागी उर्फ भगतजी के बेटे अमन उर्फ दीपक त्यागी को दो दिन तक अगवा करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। हत्यारे उसका सिर भी काटकर ले गए थे। पुलिस ने शक के आधार पर बढ़ला गांव से कुछ लोगों को हिरासत में लिया था। मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद बिना सिर का शव परिवार वालों को सौंप दिया गया। 

ग्रामीणों ने शव रखकर लगा दिया था जाम 

इससे क्षुब्ध स्वजन और ग्रामीणों ने गांव के बाहर मुख्य मार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया था। परिवार वालों का कहना था कि भले ही शव को फ्रिज में रखना पड़े लेकिन सिर मिले बिना वे अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। आरोपितों की गिरफ्तारी कर रासुका लगाने, उनके घरों पर बुल्डोजर चलाने की भी मांग की गई थी।  पुलिस अधिकारियों ने उन्हें समझाया कि दीपक का अंतिम संस्कार कर दें। कानून के दायरे में आरोपितों पर कार्रवाई की जाएगी। जलशक्ति राज्यमंत्री दिनेश खटीक पीड़ित परिवार के घर पहुंचे। उन्होंने भरोसा दिलाया कि पूरे घटनाक्रम को मुख्यमंत्री के सामने रखेंगे, ताकि आरोपितों पर सख्त कार्रवाई हो सके। इसके बाद परिवार वाले अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुए। शाम चार बजे कड़ी सुरक्षा में पुलिस ने अंतिम संस्कार कर दिया। 

हर आंख नम, बहन भी चल पड़ी शव यात्रा के पीछे 

मर्चरी से शव घर पहुंचने के बाद स्वजन दहाड़ें मारकर रो पड़े। शव यात्रा शुरू हुई तो बहन भी पीछे-पीछे चल दी। लोगों ने उसे बामुश्किल रोका। श्मशान घाट में हर किसी की आंख नम थी। गांव में पुलिस और पीएसी तैनात है।

एसएसपी ने दिनभर गांव में डाला डेरा 

हत्याकांड में मुस्लिम समुदाय के युवकों पर शक के चलते एसएसपी रोहित सजवाण, एसपी देहात केशव कुमार, एसपी सिटी पीयूष सिंह और एसपी क्राइम अनित कुमार के साथ गांव में डेरा डाले हैं। पुलिस की चार टीमें आरोपितों को पकड़ने के लिए लगी हुई हैं। 

सोना से मवाना तक नाले में तलाशा सिर 

पुलिस ने लाइट की व्यवस्था कर सारी रात सोना गांव से मवाना के बीच बह रहे नाले में गोताखोरों की मदद से सिर को तलाशने की कोशिश की। बुधवार को भी तालाबों समेत अन्य स्थानों पर खोजबीन की लेकिन सफलता नहीं मिली। 

Edited By: Parveen Vashishta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट