मेरठ,जेएनएन। लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान संगठनों से 15 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत तीन पुतले फूंकने का आह्वान किया था। गुरुवार को इसमें फेरबदल कर पुतला दहन की तिथि 16 अक्टूबर तय की गई। 18 अक्टूबर को किसान ट्रेन रोकेंगे। 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत बुलाई गई है।

भारतीय किसान यूनियन के पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी ने बताया कि भाकियू शीर्ष नेतृत्व के दिशा-निर्देश पर पुतला दहन कार्यक्रम में संशोधन किया गया है। 16 अक्टूबर की शाम छह बजे मेरठ जिले में 12 से अधिक स्थानों पर तीन-तीन पुतले दहन किए जाएंगे। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह व एक अन्य पुतला शामिल रहेगा। उन्होंने कहा कि मेरठ में 12 से अधिक स्थानों पर पुतला दहन होगा। इसमें किला-किठौर तिराहा पर दोपहर दो बजे पुतला दहन होगा। इसके अलावा सिवाया टोल, सकौती, परतापुर, छुर, मवाना, दबथुवा, करनावल, सरूरपुर व जैनपुर समेत 12 स्थानों पर शाम छह बजे पुतला दहन किया जाएगा।

अहीरावण वध की लीला का हुआ मंचन: कस्बे की रामलीला में गुरुवार को रामामंडल के कलाकारों ने अहीरावण वध की लीला का मंचन किया। लीला देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी।

आयोजन में रामलीला कमेटी के प्रधान देवेंद्र कुमार बंसल, कोषाध्यक्ष मूलचंद सैनी, उपप्रधान शरद त्यागी व मंत्री तेजस्वी भगवान मित्तल, सोनू त्यागी, प्रमोद सक्सेना व एडवोकेट विरेंद्र सिंह सैनी आदि रहे।

हस्तिनापुर में होगा 56 फीट ऊंचे रावण के पुतले का दहन: विजयादशमी के अवसर पर हस्तिनापुर में 56 फीट ऊंचे रावण का पुतला जलाया जाएगा। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष गौरव गुर्जर ने बताया कि पुतले को आकर्षक रूप दिया जा रहा है। इस रावण की सबसे खास बात है इसमें लाइट लगी हुई हैं। मेरठ के फिरोज विशेष तौर पर इसे तैयार कर रहे है। पुतले को तैयार करने में लगभग साठ हजार रुपये का खर्चा आएगा।

Edited By: Jagran