मेरठ, जेएनएन। खरखौदा क्षेत्र के एक 13 वर्षीय किशोर के साथ गांव के दो युवकों ने प्रधान की बैठक (मेहमान कक्ष) में कुकर्म किया। आरोपितों ने घटना के बारे में बताने पर जान से मारने की धमकी दी। आरोपितों ने कुकर्म की घटना का वीडियो बनाकर गांव में वायरल कर दिया। पीड़ित पिता ने मुकदमा दर्ज कराया है।

एक गांव निवासी व्यक्ति ने बताया कि सात जून को गांव के ही दो युवक उसके 13 वर्षीय बेटे को दोपहर 12 बजे ग्राम प्रधान की बैठक में ले गये। वहां आरोपित अंकुर ने कुकर्म की घटना को अंजाम दिया और मोहन ने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। वायरल होने के बाद घटना का पता चला। ग्राम प्रधान पति का कहना है कि उन्हें बदनाम करने के लिए साजिश रची जा रही है। वहीं, इंस्पेक्टर संजय शर्मा का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।

देवर और जेठ पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप : सरधना थाना क्षेत्र के एक गांव में शुक्रवार को सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। पीड़िता के स्वजन ने देवर व जेठ पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगा तहरीर दी है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

गांव निवासी पीड़िता के स्वजन ने तहरीर में बताया कि वह गुरुवार रात घर पर कमरे के बरामदे में सो रही थी। आरोप है कि इसी दौरान देवर आया और फ्रिज से दवा निकालने को कहा। जब वह कमरे से दवा लेने गई तो जेठ भी आ गया। इसके बाद आरोपितों ने बेटी को चाकू से मारने की धमकी देकर सामूहिक दुष्कर्म किया। जब पीड़िता ने विरोध किया तो मारपीट कर घायल कर दिया। उधर, सूचना पर पति नोएडा से घर पहुंचा और पुलिस को सूचना दी। पीड़िता व उसके स्वजन ने पुलिस से कार्रवाई की मांग की है। सीओ सर्किल आरपी शाही ने बताया कि देवर व जेठ पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगा है। घर के पंखे को लेकर भी मामला प्रकाश में आ रहा है। मामले की जांच की जा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप