जागरण संवाददाता, मेरठ। सुबह की हुई झमाझम बारिश से उमस भरी गर्मी से राहत मिली है। कुछ दिन पहले हुई बारिश के बाद से लोगों को हल्‍की बारिश का इंतजार था ताकि उमस से राहत मिले लेकिन कड़ी धूप से उमस बरकरार रही। शनिवार सुबह की हुई बारिश ने मौसम में बदलाव किया और उमस भरी गर्मी से राहत मिली। बारिश से पहले तापमान 35 से उपर चढ़ गया था, जो बारिश के बाद से कम हुआ और सामान्‍य से थोड़ा अधिक रहा।

अगस्त के अंतिम दिनों में एक बार फिर मानसून के प्रभावी होने की संभावना बन रही है। आगामी तीन-चार दिनों में बारिश के अंतराल देखने को मिलेंगे। हालांकि बारिश बहुत ज्यादा नहीं होगी। 22 अगस्त से मेरठ में बारिश नहीं हुई है। तापमान लगातार बढ़ रहा है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 36 डिग्री रहा। न्यूनतम आद्र्रता 54 रही। सुबह 11 से शाम तीन बजे तक गर्मी के तेवर बेहद तल्ख बने रहे। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से एनसीआर में बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने दो सितंबर तक लगातार छिटपुट और मध्यम बारिश के अंतराल जारी रहने की संभावना जताई है।

इन जिलों में भी हुई बारिश

सुबह की बारिश शनिवार को मेरठ के साथ बागपत, बुलंदशहर, बिजनौर और सहारनपुर जिले में हुई है। यहां भी उमस भरी गर्मी से लोगों का हाल बेहाल था। पसीना लोगों को परेशान कर रहा था। सुबह की बारिश से बागपत और शामली जैसे कई जगहों पर जलभराव भी हुआ। बारिश होने से किसानों को भी लाभ मिला और उनके चेहरे खिले। विशेषज्ञों का मानना है कि इस बारिश से गन्‍ने की फसल को ज्‍यादा लाभ होगा।  

Edited By: Himanshu Dwivedi