मेरठ, जेएनएन। Meerut Weather Update आगामी दिनों में सुबह के समय मेरठ के शहर वासियों को सघन कोहरे का सामना करना पड़ सकता है। शनिवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम 8.4 रहा। यह उत्तराखंड के हिल स्टेशन लैंसडाउन और नैनीताल से भी कम रहा। यही नहीं वैष्णो देवी के पास कटरा और जम्मू का तापमान भी मेरठ से खासा अधिक रहा। रात में ठंड के तेवर आगमी दिनों में भी बने रहने के आसार हैं। रविवार को सुबह अच्‍छी ठंड रही और बाद में आसमान में धूप खिली नजर आई।

सुबह के समय कोहरा

शनिवार को दिन में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 28 डिग्री दर्ज किया गया। धूप खिली रही। मौसम विभाग ने आगामी चार दिनों तक सुबह के समय कोहरा या मिस्ट की संभावना जताई है, जिससे प्रदूषण भी बढ़ेगा। शनिवार को न्यूनतम तापमान में 24 घंटे की तुलना में दो डिग्री की गिरावट हुई है।

नवंबर में इस बार जल्दी गिरा तापमान

वर्ष 2020 में गत वर्ष 21 नवंबर के बाद तापमान 10 डिग्री से नीचे आया था। वहीं, 2019 में नवंबर में पूरे माह रात का तापमान 10 डिग्री से नीचे नहीं गया था। 2018 में नवंबर में सबसे निम्नतम तापमान ही 9.2 डिग्री रहा था। वहीं, इस बार 13 नवंबर को ही तापमान 10 डिग्री से नीचे चला गया है। वहीं बात करे वेस्‍ट यूपी के अन्‍य जिलों की तो इन जिलों में भी सर्दी ने अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया। ठंड के मौसम में स्‍वास्‍थ्‍य का भी ध्‍यान बखूबी रखना चाहिए।

13 नवंबर को प्रमुख शहरों का न्यूनतम तापमान डिग्री सेल्सियस में

मेरठ - 8.4

नैनीताल - 8.5

लैंसडाउन - 9.0

कटरा - 11.2

जम्मू - 12.2

सर्दी के आगमन से समय बदलने लगे स्कूल

मेरठ : सर्दी ने दस्तक दे दिया है। शाम से लेकर दूसरे दिन सुबह तक अच्छी सर्दी भी होने लगी है। ऐसे में सुबह-सुबह स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए अब स्कूलों ने समय बदलना शुरू कर दिया है। शहर के कुछ स्कूलों में पहले से ही कोविड के बाद खुल स्कूलों में पहले से ही सुबह आठ बजे से के बाद ही स्कूल बुलाया जा रहा था। अब स्कूलों ने आधे से एक घंटे तक का समय बढ़ा दिया है जिससे सुबह बच्चों को सर्दी में स्कूल पहुंचने में कठिनाई न हो। स्कूलों में बड़े बच्चों को जहां पूरे समय के लिए स्क्ूल बुलाया जा रहा है वहीं छोटे बच्चों को दो से तीन घंटे के लिए स्कूल में बुला रहे हैं। केंद्रीय विद्यालयों में अब कक्षा एक से 12वीं तक के बच्चों की कक्षाएं सुबह नौ बजे से दोपहर ढाई बजे तक संचालित हो रही हैं। अधिकतर स्कूलों का समय सुबह नौ बजे के आस-पास ही है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt