मेरठ, जेएनएन। Meerut Weather Forecast सोमवार के बाद मंगलवार को भी सुबह की शुरुआत मौसम में बदलाव के साथ हुई। आज भी दिन में सूरज तेज चमकने के कारण गर्मी और उमस बरकरार रहेगी। सितंबर का महीने अब खत्‍म होने को है। बारिश की उम्‍मीद नजर नहीं आ रही है। इसके पूर्व रविवार को हालांकि कुछ समय के लिए मौसम खुशनुमा बना गया था। सोमवार को साफ आसमान पर सूरज के तेज चमकने से दिन में गर्मी और उमस बनी रही। रविवार को लगा था कि एक बार तो बारिश आ जाएगी लेकिन ऐसा हुआ नहीं। सुबह बह रही ठंडी हवाओं और आसमान पर छाए हल्‍के बादलों ने दिनभर मौसम के खुशनुमा बने के संकेत तो दिए थे। लेकिन दिन में धूप निकलने के बाद गर्मी और उमस भी परेशान किया। इसके पूर्व शनिवार को दिन की शुरुआत तो तेज धूप के साथ ही हुई थी पर बाद आसमान में काले घने बादल छा गए थे। बारिश नहीं हुई, मौसम अच्‍छा बना रहा। हालांकि सितंबर का माह अब खत्‍म होने को है। उतनी बारिश हुई नहीं, जितना कि अनुमान लगाया जा रहा है।

गर्मी और उमस से राहत

इसके पूर्व गुरुवार की देररात मेरठ और आसपास के जिलों में हुई झमाझम बारिश से मौसम सुहावना हो गया था। मेरठ समेत सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर, शामली, बागपत और बुलंदशहर में गर्मी ने लोगों को काफी परेशान किया है। कड़ी धूप से मेरठ समेत आसपास के जिलों में लोग परेशान हैं। वहीं सहारनपुर के देवबंद में हुई झमाझ बारिश से वहां की सड़के लबालब हो गई। आसपास के लोगों को आने-जाने में काफी समस्‍या उठानी पड़ी। मेरठ में पिछले कई दिनों से बारिश नहीं होने से गर्मी के साथ-साथ अन्‍य समस्‍या भी आई है। यहां का तापमान भी काफी बढ़ गया है। पिछले साल की तुलना करें तो इस साल मेरठ में बारिश का घनत्‍व भी कम रहा है।

बारिश की थी संभावना

मौसम विभाग ने सितंबर माह में बारिश होने की संभावना जताई थी। इसके पूर्व रविवार के बाद सोमवार को भी आसमान के साफ नजर आने से तेज धूप निकली थी, रविवार की तरह ही सोमवार को गर्मी और उमस का सामना करना पड़ा। सितंबर के महीने में जिस प्रकार उम्‍मीद जताई जा रही थी कि बारिश होगी, ऐसा हो नहीं रहा है। शनिवार को पहले तो आसमान पर हल्‍के बादलों ने वर्षा की संभावना को बल दिया लेकिन बाद में तीखी धूप ने उमस और गर्मी को बढ़ा दिया था, ऐसा ही रविवार को दिन निकलते ही हुआ। रविवार को दिनभर गर्मी और उमस के बनी रही। इसके पूर्व शुक्रवार की सुबह आसमान पर छाए बादलों बारिश होने की कुछ उम्‍मीदें जगाई थी, कुछ देर बाद निकली धूप ने सारी संभावनाओं को खत्‍म कर दिया था।

औसत 136 मिलीमीटर बारिश होनी चाहिए

सितंबर में बारिश न होने से तापमान बढ़ रहा है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान पांच साल में अपने सबसे उच्चतम बिंदु पर पहुंच गया। मौसम विज्ञानियों के अनुसार आने वाले दिनों में बारिश के आसार नहीं हैं। सितंबर के अंतिम सप्ताह में मानसून की वापसी आरंभ हो जाती है। इस बार मिल रहे संकेतों से मानसून की वापसी अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में होगी। आने वाले दिनों में एनसीआर में मानसून का कोई प्रभाव नहीं है। सितंबर का एक पखवाड़ा से अधिक का समय बीत चुका है। अभी तक शून्य बारिश रिकार्ड हुई है, जबकि सितंबर माह में औसत 136 मिलीमीटर बारिश होनी चाहिए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस