मेरठ, जेएनएन। नौकरी दिलाने के बहाने ग्रेटर नोएडा में छात्रा से तीन दिन तक बंधक बनाकर एक निजी कंपनी के मैनेजर ने दुष्कर्म किया। शनिवार को पीडि़ता ने लालकुर्ती थाने पहुंचकर 161 सीआरपीसी के तहत बयान दर्ज कराकर आपबीती बताई। पीडि़ता के मुताबिक सहेली के भाई ने तीन दिन तक ग्रेटर नोएडा की एक सोसाइटी में अपने फ्लैट में बंधक बनाकर रखा था। इसमें सहेली व उसके दोस्त ने आरोपित की मदद की। आरोपित झारखंड का रहने वाला है। सोमवार को पीडि़ता के कोर्ट में बयान दर्ज कराए जाएंगे।

दोस्ती से दुष्कर्म तक की दास्तां

बुलंदशहर निवासी पीडि़त छात्रा लालकुर्ती के एक हास्टल में रहकर पढ़ाई कर रही है। छात्रा के मुताबिक तीन साल पहले आरोपित मैनेजर धीरज सिंह की बहन सुजाता से मेरठ कालेज में बीएड की परीक्षा के दौरान मुलाकात हुई थी। परीक्षा के दौरान सुजाता छात्रा के साथ हास्टल में रही थी। तभी से छात्रा और सुजाता की दोस्ती हो गई। इसी दौरान सुजाता के भाई धीरज सिंह ने छात्रा को नोएडा की एक कंपनी में नौकरी दिलाने का झांसा दिया, जो नोएडा की एक निजी कंपनी में मैनेजर है। ग्रेटर नोएडा में धीरज ने एक सोसाइटी के छठें मंजिल पर फ्लैट खरीद रखा है, जबकि इसी टावर के दूसरी मंजिल में धीरज की बहन सुजाता अपने दोस्त विक्की के साथ किराए पर रहती है।

हास्‍टल से ले गया था  

पीडि़ता के मुताबिक एक जून को धीरज कार से लालकुर्ती स्थित उसके हास्टल में आया और अपने साथ उसे ग्रेटर नोएडा ले गया, जहां नशीली कोल्डड्रिंक पिलाकर धीरज ने अपने फ्लैट में तीन दिन उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपित का साथ उसकी बहन सुजाता और विक्की ने भी दिया है। तीनों ने छात्रा को जान से मारने की धमकी भी दी। इसके बाद छात्रा नोएडा से चुपचाप मेरठ आ गई और स्वजन को आपबीती बताई। स्वजन की सहमति के बाद छात्रा ने लालकुर्ती थाने में मुकदमा दर्ज कराया।

इनका कहना है

छात्रा की तहरीर पर निजी कंपनी के मैनेजर, उसकी बहन और बहन के दोस्त के खिलाफ दुष्कर्म, जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पीडि़ता के कोर्ट में बयान दर्ज कराने के बाद आरोपित की धरपकड़ को टीम नोएडा भेज दी जाएगी।

- अजय साहनी, एसएसपी

Edited By: Prem Dutt Bhatt