मेरठ, जागरण संवाददाता। Meerut Dengue News मेरठ जिले में डेंगू का वार जारी है। सोमवार को जिले में डेंगू के 18 नए मरीज मिले। अब तक कुल 205 मरीज मिल चुके हैं। इसमें 103 सक्रिय मरीज है, जिसमें 54 मरीज अस्पतालों में भर्ती है और 49 घर पर रहकर इलाज करवा रहे हैं। अब तक 102 मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम लगातार डेंगू के प्रति लोगों को जागरूक कर रही है। पूरी सावधानी बरतने को कहा जा रहा है।

घरों में कहीं रुकने न दें पानी

जिले में डेंगू का कहर जारी है। अधिकांश जगहों पर मच्छरजनित बीमारियों का स्रोत घरों में रखे जल पात्रों को समय से खाली न करना व टूटे-फूटे बर्तनों व कबाड़ हैं। मच्छरजनित बीमारियों से ग्रसित मिल रहे मरीजों के घरों में निरोधात्मक कार्रवाई करने पहुंच रही मलेरिया विभाग की टीमों को रोगी के अलावा आसपास कई घरों में इन जगहों पर ही मच्छरों के लार्वा मिल रहे हैं। मलेरिया विभाग इसे ही रोगों के फैलने के पीछे की बड़ी वजह मान रहा है। जिला मलेरिया अधिकार सत्यप्रकाश ने बताया कि मलियाना क्षेत्र की बात करें तो यहां भी गई टीमों को रोगी के घर के अलावा कई घरों में रखे जल पात्रों कबाड़ आदि में लार्वा मिला हैं।

150 से अधिक घरों का भ्रमण

इसको लेकर लोगों को नोटिस जारी करने के साथ-साथ ही लोगों को जागरूक किया जा रहा है। सोमवार को चले सर्वे को लेकर उन्होंने बताया कि परीक्षितगढ़ ब्लाक के तोफापुर गांव में टीम को भ्रमण में 23 घरों में लार्वा मिला। इसके अलावा शहरी क्षेत्र में जय भीमनगर, कसेरू बक्सर, साबुन गोदाम समेत अन्य इलाकों के भ्रमण में नौ घरों में लार्वा मिला। टीमों ने अलग-अलग इलाकों में 150 से अधिक घरों का भ्रमण किया, जिसमें कुल 32 घरों में लार्वा मिलने पर जल पात्रों को खाली कराने के साथ ही दवा आदि का छिड़काव किया। नोटिस देते हुए भवन मालिकों को चेतावनी दी है।

इन जगहों पर तलाशे लार्वा

मलेरिया अधिकारी सत्यप्रकाश ने बताया कि सर्वे के दौरान टीमों को अधिकतर घरों में रखे चिडिय़ा को पानी पिलाने पात्रों, कूलर, फ्रिज, गमलों, छतों में रखे कबाड़, टायर आदि में लार्वा मिल रहे हैं।

कुराली गांव निवासी चार की बिगड़ी तबीयत, मौत

जानी खुर्द : कुराली गांव में चार लोगों की अलग-अलग स्वास्थ्य समस्याओं के चलते हुई मौत से ग्रामीण में दहशत है। ग्रामीण मौतों को डेंगू व रहस्यमयी बुखार से जोड़ कर देख रहे हैं। हालांकि मामले की जानकारी होने पर सीएमओ डा. अखिलेश मोहन व मंडलीय सर्विलांस अधिकारी ने गांव जाकर मौतों की वजह जानी। उन्होंने ग्रामीणों की स्वास्थ्य संबंधित परेशानियों को दूर करने को लेकर स्वास्थ्य शिविर लगाने को कहा। कुराली गांव में बीते रविवार दिन से गांव निवासी 13 वर्षीय विनीत, 28 वर्षीय राजकुमार, 45 वर्षीय सुभाष व 52 वर्षीय भागमल की अलग-अलग वजहों से मौत हो गई।

ग्रामीणों में दहशत

मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि गांव जाकर की गई जांच में पाया कि सभी लोग का स्वास्थ्य अलग-अलग लक्षणों के साथ बिगड़ा। इनमें 13 वर्षीय विनीत की डेंगू की कार्ड जांच का पाता चला है। रिपोर्ट में संदिग्ध लक्षण मिलने की बात सामने आई है। वहीं ग्रामीण के अनुसार इन सभी का उपचार उनके स्वजन स्थानीय स्तर पर ही करा रहे थे। दिनभर में चार मौत होने से ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है। ग्रामीणों ने संभावना जताई है कि मौतें डेंगू से हुई हैं।

Edited By: Prem Dutt Bhatt