मेरठ, जेएनएन। मेरठ जिले में कोरोना संक्रमण घातक होता जा रहा है। रविवार को जिले में सात कोरोना मरीजों की मौत हो गई, जिसमें 45 और 36 साल के युवक भी शामिल हैं। रविवार को 2344 सैंपलों में 132 में कोरोना की पुष्टि हुई है। मेडिकल कालेज में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों की संख्या 150 पार कर गई है। इसमें 60 से ज्यादा मरीजों को आक्सीजन देनी पड़ रही है।

81 मरीज ठीक

सीएमओ डा. राजकुमार ने बताया कि बड़ी संख्या में सरकारी एवं निजी चिकित्सक, सैन्यकर्मी, पुलिसकर्मी और अन्य लोग बीमार पड़े हैं। 81 मरीज ठीक होकर घर पहुंच गए। अब तक 5238 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। 535 मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया है। मेडिकल कालेज के प्रोफेसर डा. टीवीएस आर्य का कहना है कि रविवार को मेडिकल में तीन मरीजों की मौत हो गई। प्राचार्य डा. ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि मरीजों की मौतों के कारणों का विश्लेषण किया जा रहा है। हालांकि इस बीच कोरोना वार्ड से अच्छी सूचना भी मिली। शास्त्रीनगर निवासी 92 साल की एक बुजुर्ग महिला दस दिन के इलाज के बाद निगेटिव होकर घर पहुंच गईं।

जिले के 84 हॉट स्पाट ग्रीन जोन में बदले

जिले के 84 हॉट स्पाट ग्रीन जोन में बदल गए हैं। डीएम के. बालाजी ने रविवार को यह आदेश जारी किये हैं। इनमें पुलिस लाइन मेरठ, न्यू गोविंदपुरी कंकरखेड़ा, सेक्टर छह जागृति विहार, ए-ब्लाक मीनाक्षीपुरम, अरविंदपुरी सदर कैंट, गली नंबर चार सुभाषनगर, उमेश विहार, बसंत विहार आनंद अस्पताल, शिवपुरम थाना टीपीनगर, अंसल कालोनी शास्त्रीनगर, नंदन नगर टीपीनगर व वार्ड नंबर सात दौराला आदि शामिल हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप