मेरठ, जेएनएन। मेरठ में लव जिहाद का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मुस्लिम संप्रदाय के शादीशुदा तीस वर्षीय युवक ने नाम बदलकर ब्यूटी पार्लर संचालिका को प्रेमजाल में फंसाया। उसके बाद धर्म बदलने का दबाव बनाता रहा। विरोध करने पर आरोपित ने ब्यूटी पार्लर संचालिका प्रिया चौधरी और उसकी नौ साल की बेटी का कत्ल कर दिया। दोनों के शव को बेडरूम में गड्ढा खोदकर गाड़ दिए। उसके बाद ऊपर से प्लास्टर कर चटाई डालने के बाद सोफा रख दिया। पुलिस ने घर में जेसीबी से खोदाई कर दोनों के कंकाल बरामद किए। आरोपित पुलिस हिरासत से फरार हो गया।

तीस वर्षीय प्रिया मूलरूप से गाजियाबाद के लोनी की रहने वाली थी। 10 साल पहले उसकी शादी गाजियाबाद के भोजपुर थाना क्षेत्र के खंजरपुर निवासी राजीव से हुई थी। बाद में तलाक हो गया था। मृतका की सहेली ने मुकदमा कायम कराया है। मामले को लेकर ङ्क्षहदू संगठनों की पुलिस से झड़प भी हुई। गाजियाबाद जिले के मोदीनगर निवासी चंचल ने 15 अप्रैल को परतापुर थाने में शिकायत दर्ज कराई कि उसकी सहेली प्रिया और उसकी नौ साल की बेटी कशिश की शमशाद निवासी भुड़बराल ने हत्या कर दी है। प्रिया पांच साल से शमशाद के साथ लिव-इन में रह रही थी। मोदीनगर में ब्यूटी पार्लर चलाती थी। शिकायत के बाद पुलिस मामले को हल्के में लेकर टालती गई। चंचल ने ङ्क्षहदू संगठनों का सहारा लिया तो 14 जुलाई को परतापुर थाने में शमशाद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई। पुलिस ने शमशाद को भूड़बराल गांव से हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ की। मंगलवार रात शमशाद की निशानदेही पर पुलिस ने उसके भूड़बराल स्थित घर के अंदर बेडरूम की खोदाई की। वहां से मां-बेटी के कंकाल मिल गए। घर में किसी अन्य स्थान पर शव के अवशेष होने की आशंका के चलते जेसीबी बुलाकर मकान को तोड़ा गया। पुलिस शमशाद को थाने से गांव लेकर जा रही थी तभी भूड़बराल चौराहे पर उसने लघुशंका जाने की बात कही और फरार हो गया। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। चंचल ने चार ऑडियो जारी कर इंस्पेक्टर क्राइम भूपेंद्र सिंह पर डांटने व दारोगा पर फोन पर अश्लील बातें करने के प्रयास समेत आरोपित पक्ष से मोटी रकम लेने के आरोप भी लगाए हैं। ङ्क्षहदू संगठनों की पुलिस से झड़प हुई तो पीएसी बुलानी पड़ी। इसके बाद वे शांत हुए।

यूं उतारा मां बेटी को मौत के घाट

शमशाद ने बताया कि उसने 29 मार्च की रात प्रिया पर नमाज अदा करने के लिए दबाव बनाया। प्रिया के मना करने पर दोनों में मारपीट शुरू हो गई। प्रिया ने घर में रखे चाकू से शमशाद के हाथ पर वार कर दिया। इसके बाद शमशाद ने प्रिया की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्याकांड की चश्मदीद बेटी कशिश का भी गला दबा दिया। उसके बाद बेडरूम में फर्श तोड़कर रातभर खोदाई की और दोनों शवों को दफन कर फर्स पर प्लास्टर करा दिया। वारदात को अंजाम देकर चंचल पर प्रिया और कशिश को अगवा करने का आरोप लगा दिया। इसके बाद चंचल ने परतापुर थाने में शमशाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। शमशाद ने प्रिया को शुरुआत में अपना नाम अमित गुर्जर बताया था।

इंस्पेक्टर क्राइम लाइन हाजिर

इंस्पेक्टर क्राइम भूपेंद्र सिंह व एक दारोगा पर चंचल के आरोप लगाने व आरोपित पक्ष से मोटी रकम लेने के आडियो वायरल होने पर एसएसपी ने इंस्पेक्टर भूपेंद्र सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है। पूरे मामले की जांच सीओ ब्रह्मपुरी चक्रपाणि त्रिपाठी को सौंपी गई है।

आरोपित की पत्नी ने जारी किया वीडियो

देर शाम दोहरे हत्याकांड के आरोपित शमशाद की पत्नी अफसाना ने एक वीडियो जारी करते हुए परतापुर थाना पुलिस पर आरोप लगाए हैं कि रुपये लेने के बाद भी पुलिस उसके पति का उत्पीडऩ कर रही है। यहां तक कहा कि उसके पति ने हत्या नहीं की है। पुलिस ने अफसाना को भी हत्या के साक्ष्य छिपाने का आरोपित बनाया है।

इन्होंने कहा

चंचल की तरफ से दर्ज किए मुकदमे पर काम किया गया, जिसमें सामने आया कि शमशाद ने पांच साल तक लिव-इन में रखने के बाद मां-बेटी को मार डाला। आरोपित की तलाश की जा रही है। आरोपों को देखते हुए इंस्पेक्टर क्राइम को लाइन हाजिर कर दिया गया है। आरोपित शमशाद पर 25 हजार का इनाम घोषि‍त कि‍या गया।

-अजय साहनी, एसएसपी

लव जिहाद में एकता के कर दिए थे टुकड़े-टुकड़े

मेरठ में लव जिहाद का यह पहला मामला नहीं है। इसी साल तीन जून को दौराला के लोइया में भी रूह कंपाने वाला राजफाश हुआ था। लोइया निवासी साकिब ने अपना नाम अमन बताकर लुधियाना की 22 वर्षीय एकता को प्रेम जाल में फंसाया। 13 मई 1919 को लोइया लेकर आया और शादी कर ली। उसी रात स्वजनों और एक दोस्त के साथ एकता को जंगल में लेकर गया और उसकी हत्या कर शव के कई टुकड़े कर दिए थे। करीब एक साल बाद इस हत्या का राज खुला तो पुलिस ने शाकिब सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एकता की मां ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान ही शाकिब की भाभी की पिटाई कर दी थी। थाने ले जाते समय शाकिब पुलिस हिरासत से भाग निकला था। घेराबंदी के दौरान हुई मुठभेड़ में वह पुलिस की गोली से घायल हो गया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस