मेरठ, जेएनएन। श्रीरामलीला कमेटी शहर की ओर से सनातन धर्म रक्षिणी सभा के प्रांगण में चल रही रामकथा में सोमवार को भरत मिलाप व भगवान राम के राजतिलक का वर्णन हुआ। वृंदावन धाम से विशेष रूप से पधारे ब्रज बहुला वन राजेश्वरी लीला संस्थान के अध्यक्ष घनश्याम शर्मा ने कथा सुनाई। उन्होंने कहा कि भगवान राम रावण का वध कर विभीषण को लंका का राजा नियुक्त करते हैं और वह अपने छोटे भाई लक्ष्मण व पत्नी सीता के साथ अयोध्या लौट जाते हैं। वहां श्रीराम और भरत का मिलाप होता है, जो बेहद मार्मिक पल होता है। इसके बाद भगवान राम का राजतिलक किया जाता है। आयोजन में अध्यक्ष शिव कुमार गुप्ता, महामंत्री मनोज माहेश्वरी, कोषाध्यक्ष पंकज ग्रोवर, राकेश गर्ग, जितेंद्र मणि, संजीव गुप्ता (एडवोकेट), प्रतीक जिदल, अशोक अग्रवाल, सुशील गर्ग, अपार मेहरा, लोकेश शर्मा, प्रदुमन कुमार, किशन शर्मा, मधुमय शर्मा, मानव मोहन शर्मा, शिव वर्मा व अंकित गुप्ता आदि सदस्यों का विशेष योगदान रहा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस