मेरठ, जेएनएन। ब्रह्मपुरी के ध्यानचंद नगर में कोयला व्यापारी अरुण जैन की हत्या में दूसरे दिन पुलिस को कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पाई है। सीसीटीवी फुटेज में हत्या करने के बाद बदमाश दिल्ली रोड की तरफ जाते हुए दिखाई दिए हैं, जिस स्कूटी पर सवार होकर जा रहे थे। उसका नंबर भी स्पष्ट नहीं है। पुलिस इस नंबर का मिलान करने में जुटी है।

मूलरुप से सरधना के गाधीनगर निवासी अरुण जैन का परिवार टीपीनगर के पंजाबीपुरा में रहता है। सोमवार को आवास से 11 बजे बेटे अक्षय जैन के साथ ध्यानचंद नगर स्थित कोयला गोदाम पर पहुंचे थे। गोदाम के ऊपर दूसरी मंजिल पर बने कार्यालय में बैठ थे। करीब साढ़े 11 बजे स्कूटी सवार दो बदमाश आए। उन्होंने पिस्टल से अरुण जैन पर छह राउंड फायरिंग की। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि व्यापारी को तीन गोली लगी थीं, जबकि पुलिस मान रही थी कि सीने में गोली लगने से व्यापारी की मौत हुई है। ब्रह्मपुरी पुलिस और क्राइम ब्राच की टीम ने आसपास के सभी सीसीटीवी फुटेज देखे। मोबाइल टावरों का बीटीएस भी उठाया है। सीसीटीवी में बदमाश स्कूटी पर दिल्ली रोड तक जाते दिखाई दिए हैं। उसके बाद उनकी कोई लोकेशन नहीं मिल है। सीओ ब्रह्मपुरी अमित राय ने बताया कि पुलिस मान रही है कि बदमाश कोयला व्यापारी की हत्या करने ही आए थे। अभी तक लग रहा है कि हत्या रंजिशन शूटरों को सुपारी देकर कराई गई है। पुलिस शूटरों की पहचान करने का प्रयास कर रही है। व्यापारी की रंजिश भी तलाशी जा रही है। पुलिस घटना को सरधना से भी जोड़कर देख रही है। हो सकता है कि सरधना में रहते समय किसी से रंजिश चल रही हो। उसी ने ही मौका पाकर वारदात कराई हो। लूटपाट की लाइन पर भी पुलिस की एक टीम काम कर रही है। इन्होंने कहा-

कोयला व्यापारी की हत्या के बाद थाना पुलिस और क्राइम ब्राच की तीन टीम लगा दी गई है। बदमाशों की फुटेज मिल गई है, उनकी पहचान की जा रही है। दोनों शूटरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जल्द ही पुलिस हत्याकाड का पर्दाफाश करेगी। अभी तक क्राइमसीन को देखकर घटना रंजिशन लग रही है।

अजय साहनी, एसएसपी