मेरठ, जागरण संवाददाता। कालका दिल्ली पैसेंजर का संचालन गुरुवार से आरंभ हो गया है। कोरोना काल में इस ट्रेन का संचालन बंद कर दिया गया था। ढ़ाई साल बाद चल रही यह ट्रेन पूर्व की तरह अप और डाउन में अलग अलग रूट पर चलेगी। डाउन में यह कालका से दिल्ली वाया मेरठ होकर जाएगी। जबकि कालका से दिल्ली जाने पर वाया मेरठ होकर नहीं जाएगी। 18 से इस ट्रेन को नए नंबर 14332 (पुराना नंबर 54304) से एक्सप्रेस ट्रेन के नाम से चलाया जा रहा है। इसका कालका से आरंभ होने का समय सुबह 7.40 बजे है।

सभी स्‍टेशनों पर रुकेगी

मेरठ सिटी स्टेशन यह दोपहर 1.10 बजे पहुंचेगी। दो मिनट के स्टापेज के बाद यह दिल्ली के लिए रवाना होगी। दिल्ली पहुंचने का समय दोपहर 3.35 बजे है। इस तरह मेरठ वासियों को दिल्ली के लिए एक और ट्रेन उपलब्ध हो गई है। पैसेंजर ट्रेन की तरह यह मार्ग में पड़ने वाले सभी स्टेशनों पर रुकेगी। इस ट्रेन के संचालन के साथ कोरोना काल में बंद, मेरठ से गुजरने वाली सभी ट्रेनों का संचालन आरंभ हो जाएगा।अप में यह ट्रेन दिल्ली से वाया पानीपत अंबाला होते हुए कालका जाएगी।

80 ई रिक्शा सीज किये

मेरठ: परिवहन विभाग की प्रवर्तन शाखा ने गुरुवार को शहर में अवैध रूप से चल रहे ई रिक्शा के खिलाफ अभियान चलाया। तेजगढ़ी, बेगमपुल, भैसाली डिपो, मेट्रो प्लाजा पर प्रवचन की टीमों ने चल रहे ई रिक्शा की जांच की। ई रिक्शा के खिलाफ 6 साल से टैक्स न जमा करने के मामले सामने आए। ई-रिक्शा की ना फिटनेस कराई गई थी और न ही इंश्योरेंस था। ई-रिक्शा सीज होते देख कई चालक अपने वाहन लेकर भागते नजर आए। यात्री कर अधिकारी सुधीर कुमार ने बताया बिना इंश्योरेंस के ई रिक्शा पर बैठने वाले यात्रियों के साथ कोई दुर्घटना होती है तो वह मुआवजे के भी हकदार नहीं होते। शहर में 25,000 से अधिक ई रिक्शा चल रहे हैं इनमें से अधिकांश नियमित तरीके से संचालित हैं। एआरटीओ कुलदीप सिंह ने बताया 80 ई रिक्शा सीज कर परिवहन विभाग के कार्यालय में खड़े किए गए हैं। अभियान आगे भी जारी रहेगा।

Edited By: Taruna Tayal