मेरठ, जेएनएन। मेडिकल कालेज में मरीजों के इलाज पर नया संकट खड़ा हो रहा है। नाराज जूनियर डाक्टरों ने शुक्रवार से हड़ताल पर रहने का एलान किया है। ऐसा हुआ तो चिकित्सा व्यवस्था चरमरा जाएगी। इमरजेंसी से लेकर अन्य विभागों में भर्ती मरीजों की देखभाल में जूनियर डाक्टरों की अहम भूमिका होती है।

जूनियर डाक्टरों ने गुरुवार को कैंपस में बैठककर प्रदर्शन किया। जूनियर डाक्टर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि जुलाई माह में डाक्टरों का नया बैच आना था, लेकिन कोविड प्रोटोकाल समेत अन्य दिक्कतों की वजह से बैच नहीं आ सका। अब जूनियर डाक्टरों की संख्या में 40 फीसद कमी हो गई है, ऐसे में उन पर इलाज का दबाव बढ़ गया है। कोर्ट में काउंसलिंग को लेकर केस चल रहा है, जिसमें डेढ़ माह बाद की तारीख मिली है। कैंपस में कार्यरत करीब 80 डाक्टरों के हड़ताल पर जाने से वरिष्ठ चिकित्सकों पर दबाव बढ़ेगा। प्राचार्य डा. आरसी गुप्ता ने जूनियर डाक्टरों से बात की, लेकिन वो हड़ताल पर अड़े हुए हैं।

रुद्रवीणा की तान पर झूमे श्रोता

मोदीपुरम : शोभित विवि में गुरुवार को स्पिक मैके द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें संगीत नाट्य अकादमी अवार्ड विजेता रुद्रवीणा कलाकार मोहि बहाउद्दीन डागर एवं तबला वादक संजय ने प्रस्तुति दी। विवि कुलपति प्रो. अजय राणा ने कहा कि मोही बहाउद्दीन डागर, डागर घराने के वाद्ययंत्र रुद्रवीणा बजाने के कलाकार हैं। कार्यक्रम में राग सुहा, राग मुल्तानी, अलाप, जोर झाला को रुद्रवीणा बजाकर श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया। उनका साथ साथ तबला वादक संजय ने दिया। कुलपति ने विद्यार्थियों को सांस्कृतिक विरासत से अवगत कराया। संचालन डा. नंदिता त्रिपाठी ने किया। नेहा त्यागी आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran