जिला अस्पताल में महिला मरीज से 'गंदी बात' पर घंटों हंगामा

मेरठ, जेएनएन। जिला अस्पताल में भर्ती महिला को संविदा कर्मी वार्ड ब्वाय ने फोन कर कमरे में आने को कहा। महिला ने यह बात बताई तो स्वजन ने हंगामा कर दिया। घंटों चले हंगामे के बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। दरअसल, चार दिन पहले किला परीक्षितगढ़ निवासी महिला पेट में रसौली होने पर जिला अस्पताल में भर्ती हुई थी। जागृति विहार सेक्टर नौ निवासी राहुल सिंह (वार्ड ब्वाय) ने पहले दिन उसे ड्रिप लगाई थी। इस दौरान महिला को अपना फोन नंबर दिया और कोई भी परेशानी होने पर काल करने के लिए कहा। उसी दिन महिला ने ड्रिप बंद होने पर राहुल को फोन किया था। आरोप है कि शनिवार देर रात आरोपित ने महिला को फोन कर स्टाफ रूम में आने के लिए कहा। महिला के मना करने पर उसने गाड़ी में चलने को कहा। महिला ने इसकी जानकारी रात को ही उसके पास रुकी महिला रिश्तेदार को दी। उसने फोन कर महिला के पति और अन्य रिश्तेदारों को बुला लिया। वह रात में ही पहुंचे और आरोपित से विरोध जताया तो उसने उल्टा पति को ही जेल भिजवाने की धमकी दे डाली। इस पर हंगामा शुरू हो गया। अन्य संविदा कर्मी भी आरोपित के पक्ष में आ गए। दोनों पक्षों में जमकर नोकझोंक हुई। सूचना पर देहली गेट थाना पुलिस पहुंची और आरोपित राहुल को पकड़कर थाने ले आई। पीड़ित की तहरीर पर रविवार को आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। सीओ अरविंद चौरसिया ने बताया कि राहुल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। वहीं, हंगामे के दौरान संविदा कर्मचारियों ने काम बंद कर दिया था। इसके चलते अन्य मरीजों को परेशानी हुई थी। हालांकि कुछ देर बाद ही उन्होंने काम फिर शुरू कर दिया। चिकित्सक भी पहुंचे थाने मामले की जानकारी पर रविवार सुबह जिला अस्पताल के चिकित्सक और स्टाफ थाने पहुंचा। उन्होंने पूरे मामले की जानकारी लेते हुए पीड़ित पक्ष से भी बात की। चिकित्सकों ने मामले की जानकारी सीएमएस को दी और चले गए।

Edited By: Jagran