बागपत, जेएनएन। कुख्यात अमरपाल उर्फ कालू लुहारा ने दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे पर अपनी भाभी को पुलिस कस्टडी से छुड़ा लिया। वह प्रधान पद का नामांकन करने ब्लाक कार्यालय पहुंचने की फिराक में थी। हालांकि, इससे पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

छपरौली थाना प्रभारी प्रदीप शर्मा ने बताया कि जिला बदर व हिस्ट्रीशीटर अमरपाल की पत्नी किरण और भाभी पवित्रा लुहारा गांव के पंचायत चुनाव में वोटरों पर अपने पक्ष में मतदान करने का दबाव बना रही थीं। गांव से पवित्रा को गिरफ्तार कर बड़ौत एसडीएम कोर्ट ले जाने लगे। बड़ौत एसडीएम के बाहर होने के कारण पुलिस उसे बागपत एसडीएम कोर्ट ले जा रही थी।

ग्राम सरूरपुर से आगे पहुंचने पर आरोपित पवित्रा चलती पुलिस गाड़ी से कूद पड़ी। इसी बीच अमरपाल अपने तीन-चार साथियों व भीड़ के साथ पवित्रा को लेकर फरार हो गया। कोतवाली पर पवित्रा, अमरपाल, तीन-चार अज्ञात और भीड़ में शामिल अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया। पुलिस ने जनपद में चेकिंग अभियान चलाकर पवित्रा को दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे पर गुफा वाले बाबा के मंदिर के पास से गिरफ्तार किया। बागपत सीएचसी पर मेडिकल कराया। अदालत में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में मेरठ जेल भेजा गया। अमरपाल समेत अन्य आरोपितों की तलाश जारी है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021