मेरठ, जेएनएन। फैट को लेकर लोगों में अक्सर गलत धारणा होती है। लेकिन शरीर के लिए सभी फैट नुकसानदायक हो ऐसा नहीं है। मेरठ मेें खानपान विशेषज्ञों का कहना है कि शरीर के लिए फैट भी बहुत जरूरी है। जिन्हें गुड फैट भी कहा जाता है। जो लोग नो फैट डाइट फालो करते हैं, उन लोगों के शरीर पर इसका बुरा असर पड़ता है। साथ ही शरीर में फैट की कमी भी हो जाती है। हेल्दी डाइट में अक्सर फैट को शामिल नहीं किया जाता है। जो कि नहीं है, हालांकि कुछ फैट ऐसे होते है। जिन्हें शरीर के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। इन्हें बैड फैट भी कहा जाता है। बैड फैट की वजह से ही कोलेस्ट्राल बढ़ता है और कोलेस्ट्राल बढ़ने से मोटापा, मधुमेह यहां तक कि कैंसर जैसी बीमारी भी हो सकती है।

इसीलिए है बेहतर

इसलिए डाइट में गुड फैट को शामिल करना जरूरी है, इससे शरीर और दिमाग दोनों ही बेहतर तरीके से काम करते हैं। विटामिन ए, डी, ई और के का पूरा अवशोषण करने के लिए शरीर में गुड फैट का होना जरूरी है। इसके साथ ही गुड फैट शरीर में हार्मोंस को को नियंत्रित करते हैं। इसलिए डाइट में 20-30 फीसदी हिस्सा गुड फैट का होना आवश्यक है। जिसका असर चेहरे, बाल और पूरी शरीर पर पड़ता है।

फैट खाने के फायदे

फैट खाने से शरीर का पाचन तंत्र सही रहता है। यह विटामिन ए, डी, ई और के को भी घुलने में मदद करता है। इससे मस्तिष्क का विकास और शरीर के अंदर सूजन संबंधी समस्याएं भी खत्म हो जाती है। माना जाता है कि अच्छी नींद लेने मानसिक और शारीरिक विकास होता है, और फैट खाने से अच्छी नींद आती है। फैटी एसिड के कम होने पर नींद में कमी आती है। इसके अलावा त्वचा और हड्डियों के लिए भी फैट फायदेमंद है। फैटी एसिड की मात्रा बढऩे से हड्डियों में कैल्शियम कर मात्रा भी बढ जाती है। साथ ही फैट त्वचा में आयल को भी नियंत्रित कर हाइड्रेट करता है। जिससे उम्र से पहले चेहरे पर झुर्रियां नहीं आती है।

Edited By: PREM DUTT BHATT