मवाना, जागरण संवाददाता। मेरठ के गांव इंचौली में मंगलवार सुबह एक बच्चे का सिर कटा शव मिलने का मामला पूरा दिन सुर्खियों में बना रहा। जांच में सामने आया कि यह शव दिल्ली में झुग्गी में रहने वाले मानव का है, जो बीती 30 नवंबर को घर से गायब हुआ था। मानव का अपहरण किया गया था और हत्या के बाद इंचौली के खेतों में शव क्षत-विक्षत कर फेंका गया। हत्यारों ने पहचान छुपाने के प्रयास में ही शव से सिर काट लिया था। फिलहाल, फारेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए हैं और दिल्ली पुलिस मामले की जांच जुटी हुई है।

जानकारी के मुताबिक, पूर्वी दिल्ली के प्रीत विहार से 30 नवंबर को अपहरण कर 5 वर्षीय बच्चे मानव की इंचौली के नंगली ईशा के जंगल में गला काटकर जघन्य हत्या कर दी गई थी। मंगलवार सुबह गन्ने के खेत से कुत्ते व जंगली जानवरों द्वारा नोंचा हुआ गला-सड़ा शव इंचौली पुलिस ने बरामद हुआ था। कुछ समय बाद दिल्ली पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम हत्यारोपित को लेकर घटनास्थल पर पहुंच गई थी।

लोगों ने जानवरों को शव नोचते हुए देखा था

इंचौली के नंगली ईशा के ग्राम प्रधान युद्धवीर के गन्ने के खेत में मंगलवार सुबह करीब साढ़े दस बजे लोगों ने एक बच्चे का सिर विहीन शव नोंचते हुए देखा। सूचना पर इंस्पेक्टर इंचौली जितेंद्र दूबे पुलिस बल के साथ पहुंचे तो शव अर्द्धनग्न के साथ गली सड़ी अवस्था में था। शव को कुत्ते व जंगली जानवरों ने नोंचा हुआ था। 

शिनाख्त का प्रयास कर ही रहे थे कि इस बीच पूर्व दिल्ली के थाना प्रीत विहार के एसएचओ हीरालाल और क्राइम ब्रांच की टीम भी हत्यारोपित दीपक के साथ घटना स्थल पर पहुंच गई। जहां बताया कि वह प्रीत विहार की झुग्गी झोपड़ी में रहने वाला पांच वर्षीय बच्चा मानव पुत्र निराला है और 30 नवंबर को अचानक गायब हो गया था। 

पड़ोसी पर हुआ था शक

स्वजन ने उक्त मामले में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। स्थानीय पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच रेस्क्यू में लगी थी लेकिन सुराग नहीं मिल रहा था। स्वजन के शक के आधार पर गत दिवस पड़ोसी दीपक को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपहरण व हत्या की बात कबूल ली। 

एक हाथ अभी भी लापता

टीम ने स्थानीय पुलिस की मदद से कई घंटे खेतों में मशक्कत के बाद खाया हुआ सिर बरामद कर लिया। वहीं, एक हाथ अभी बरामद नहीं हो सका। हत्या की जघन्यता को देखते हुए मेरठ से डाग स्क्वायड और फारेंसिक टीम पहुंची और साक्ष्य एकत्र किए।

हत्यारोपित बार-बार बदल रहा था बयान

उधर, एसपी देहात केशव मिश्रा व सीओ भी पहुंच गए और अपनी देखरेख में रेस्क्यू चलाया और शव मोर्चरी के लिए भिजवाया। हालांकि शातिर हत्यारोपित बार-बार बयान बदल रहा था। वह फिरौती तो कभी अन्य कारण बता रहा था। वहीं, हत्यारोपित का ताल्लुक बच्चा चोर गिरोह से तो नहीं यह भी शक जाहिर किया जा रहा है। 

कुत्ते के जबड़े से छुड़ाया बच्चे का सिर

शव से कई अंग भंग मिले। सिर व दाया हाथ बरामद करने में पुलिस को पसीने छूट गए। घंटों मशक्कत के बाद घटना स्थल से करीब दो सौ मीटर दूर गन्ने के खेत में सिर कुत्ता खाता मिला। पुलिस कर्मियों ने छुड़ाने का प्रयास किया लेकिन वह गुर्राता हुआ सिर लेकर भागने लगा। आखिर काफी प्रयास के बाद सिर छुड़ाया।

हत्यारोपित बच्चे को नग्न कर कपड़े फूंक गया

हत्यारोपित बच्चे की हत्या कर उसको नग्न कर कपड़े पेड़ के नीचे रखकर फूंक गया था। उक्त राख भी फारेंसिक टीम ने कब्जे में ले ली। 

इन्होंने कहा…

नंगली ईशा के जंगल में बच्चे का मिला शव पूर्वी दिल्ली के प्रीत विहार निवासी का है। स्थानीय पुलिस ने सिर बरामद कर शव मोर्चरी के लिए भेज दिया है। दिल्ली पुलिस भी हत्यारोपित को लेकर घटना स्थल पर पहुंच गई। उक्त मामले में प्रीत विहार थाने में 30 नवंबर को अपहरण का मुकदमा दर्ज है। 

-केशव मिश्रा, एसपी देहात मेरठ।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट