मेरठ,जेएनएन। एक लाख रुपये की नौकरी लगवाने का लालच देकर शिक्षिका से 51 हजार रुपये ठग लिए गए। रुपये कटने का मैसेज आते ही शिक्षिका ने संबंधित बैंक व थाने में शिकायत की। वहां से उसे साइबर सेल भेज दिया गया। यूआरएल (यूनिफार्म रिसोर्स लोकेटर) के जरिए साइबर सेल की टीम अपराधियों की तलाश कर रही है।

लालकुर्ती थाना क्षेत्र के बकरी मोहल्ला निवासी आशा मौर्या पुत्री रघुनाथ मौर्या निजी विद्यालय में शिक्षिका हैं। उन्होंने कई वेबसाइट्स पर नौकरी के लिए आवेदन किया था। बुधवार रात उन्हें अज्ञात नंबर से काल आई। कालर ने आशा को अपनी बातों में फंसाकर उनके दस्तावेजों की जानकारी एकत्र कर ली। इसके बाद कालर ने आशा के नंबर पर एक लिंक भेजा। जैसे ही शिक्षिका ने लिंक पर क्लिक किया तो उनके खाते से 15 बार में 51 हजार रुपये कट गए। उन्होंने उस नंबर पर काल करने का प्रयास भी किया, लेकिन नंबर बंद था। साइबर सेल प्रभारी राघवेंद्र सिंह का कहना है कि अपराधियों ने जिस यूआरएल द्वारा रुपये ट्रांसफर किए हैं, इसकी सहायता से आरोपितों की पहचान कर जल्द ही उन्हें पकड़ लिया जाएगा।

दुकानदार से बदमाश छीन ले गए कंबल: कस्बे के सरधना-बिनौली रोड पर गुरुवार को बदमाश दुकानदार से तीन सौ कंबल छीनकर फरार हो गए। पीड़िता की पत्नी ने थाने में तहरीर दी है। वहीं, पुलिस ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

छुर निवासी अरुणा ने बताया कि उनके पति संजीव कुमार दिव्यांग हैं। चार-पांच दिन पहले सरधना-बिनौली रोड पर मेनका फैक्ट्री के सामने चौैधरी टेंट हाऊस के नाम से उन्होंने दुकान का उद्घाटन किया था। उनके पति संजीव कुमार ने नवमी पर दुकान खोली थी। इसी दौरान उन्होंने पांच जरूरतमंदों को कंबल वितरित कर दिए। आरोप है कि कुछ समय बाद बड़ी संख्या में लोग आए और करीब तीन सौ कंबल व रजाई के खोल छीनकर भाग गए। इस घटना से आहत संजीव दुकान छोड़कर चले गए। पीड़िता ने बताया कि उन्हें लाखों का नुकसान हो गया है। जब इस मामले में इंस्पेक्टर लक्ष्मण वर्मा से संपर्क करने का प्रयास किया तो उनका फोन नहीं उठा।

Edited By: Jagran