बड़ौत, जागरण टीम। अपने दैनिक कार्यों के लिए ट्रेन से सफर करने वाले और नौकरीपेशा यात्रियों के लिए खुशखबरी है। उत्तर रेलवे की ओर से अतिरिक्त ट्रेन की जरूरत को ध्यान में रखते हुए 8 सुपर फास्ट मेमू ट्रेनों को हरी झंडी मिल गई है। यह ट्रेनें सहारनपुर से दिल्ली वाया शामली होते हुए चलेंगी, जिनकी रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। इन ट्रेनों की खास बात यह है कि इनमें चेन पुलिंग की समस्या से राहत मिलेगी।

दरअसल, दिल्ली-सहारनपुर वाया शामली रेल मार्ग पर मेमू (मेन लाइन इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट) ट्रेनों के संचालन को उत्तर रेलवे ने हरी झंडी दे दी है। सात दिसंबर से इनका संचालन शुरू होकर नौ दिसंबर तक आठ अप-डाउन मेमू गाड़ियों का 12 डिब्बों वाला रेक ट्रैक पर फर्राटे भरता नजर आएगा। 

सेक्शन के विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण होने के बाद उत्तर रेलवे ने सवारी गाड़ी (पैसेंजर ट्रेन) और डेमू (डीजल इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट) को मेमू से रिप्लेस करने की कवायद शुरू कर दी है। 

फिलहाल शामली रेल मार्ग पर संचालित जनता और अजमेर एक्सप्रेस सहित 26 अप-डाउन ट्रेनों का संचालन हो रहा है, जिनमें से आठ ट्रेनों को मेमू से रिप्लेस कर दिया जाएगा। इसके बाद इस रेलमार्ग पर अप-डाउन दो जनता एक्सप्रेस और अप-डाउन आठ सीएनजी से संचालित गाड़ियां ही रह जाएंगी।

इन मेमू गाड़ियों का होगा संचालन 

अप: ट्रेन संख्या 01617, 01619, 01622, 04429 

डाउन: ट्रेन संख्या 01618, 01620, 01623, 04430

नहीं होगी चेनपुलिंग, बढ़ेगी रफ्तार 

मेमू ट्रेनें चलने के साथ रफ्तार पकड़ लेती हैं, जो करीब 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती हैं। इनमें आगे, बीच में और पीछे की तरफ तीन इंजन होते हैं। इन ट्रेनों में वैक्यूम काटने की सुविधा नहीं होने से चेन पुलिंग (एसीपी) की समस्या नहीं आती। इसके अलावा स्टेशनों पर ट्रेन का इंजन नहीं बदलना पड़ता है। समय और डीजल की बचत के साथ-साथ लाइन की क्षमता भी बढ़ती है।

इन्होंने कहा... 

उत्तर रेलवे के जीएम आपरेटिंग रेल यातायात की तरफ से मेमू ट्रेनों के संचालन के संबंध में निर्देश जारी किए गए हैं। सात दिसंबर से इनका संचालन शुरू हो जाएगा। 

-सुधीर शर्मा, स्टेशन अधीक्षक, बड़ौत रेलवे स्टेशन।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट