मेरठ,जागरण संवाददाता। Freight corridor मालगाड़ी के लिए बिछाई जा रही रेलवे लाइन यानी डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर पर मेरठ वाले हिस्से पर इसी साल दिसंबर में गाड़ी को हरी झंडी दिखा दी जाएगी। खुर्जा से हापुड़, मेरठ होते हुए सहारनपुर तक 222 किमी का हिस्सा एल एंड टी कंपनी बना रही है। इस हिस्से पर ट्रायल जून से शुरू होगा। इस हिस्से पर अभी पटरी नहीं बिछाई गई है, लेकिन उसकी तैयारी शुरू हो गई है।

मेरठ होते हुए सहारनपुर पहुंचेगी

इस कारिडोर को खुर्जा से दादरी तक भी जोडऩा है, जिसका कार्य शुरू हो गया है। उस 12 किमी के हिस्से में पटरी बिछाकर मशीन खुर्जा से गुलावठी, हापुड़, मेरठ होते हुए सहारनपुर पहुंचेगी। जून के दूसरे सप्ताह तक सहारनपुर तक पटरी बिछा दी जाएगी। इस 222 किमी हिस्से पर एक ही पटरी रहेगी। इस हिस्से पर खुर्जा और सहारनपुर को छोड़कर बाकी कहीं माल ढुलाई के स्टेशन भी नहीं बनाए जा रहे हैं। इससे काम जल्द पूरा हो जाएगा।

कामकाज की वर्तमान स्थिति

मेरठ और मुजफ्फरनगर में कुछ स्थानों पर मिट्टी भराव का कार्य अभी धीमी गति से चल रहा है। यहां मुआवजे का अवरोध था। इस तरह से पूरे हिस्से पर 85 प्रतिशत मिट्टी भराव का कार्य हो गया है। 80 प्रतिशत ब्रिज तैयार हो गए हैं।

इस तरह से पूरे देश में बिछ रहा है मालगाड़ी की पटरी का जाल

देश में वर्तमान में ईस्टर्न और वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर पर काम चल रहा है। मेरठ से गुजरने वाला कारिडोर ईस्टर्न कारिडोर है। यह लुधियाना से कोलकाता तक बन रहा है। दूसरा है वेस्टर्न कोरिडोर। यह दादरी से मुंबई तक बन रहा है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt