मेरठ, जेएनएन। मेरठ सिटी से लखनऊ जाने वाली राज्यरानी एक्सप्रेस बर्निंग ट्रेन बनने से बाल-बाल बच गई। सिटी स्टेशन से 500 मीटर की दूरी पर मलियाना फाटक के पास इंजन से धुआं उठना शुरू हो गया। लोको पायलट अजीत कुमार सिंह ने तुरंत कंट्रोल रूम को सूचना देकर ट्रेन को रोक दिया। लोको पायलट और सहायक लोको पायलट ने इंजन के दूसरी तरफ के गेट का शीशा तोड़कर ज्वलनशील यंत्र से आग बुझाई।
चार मिनट बाद ही...
गुरुवार सुबह 10.41 बजे जैसे ही ट्रेन सिटी स्टेशन से रवाना हुई। उसके चार मिनट बाद ही ट्रेन के इंजन से धुआं निकलना शुरू हो गया। सिटी स्टेशन से अधीक्षक आरपी शर्मा सहित चार लोग ट्रेन की तरफ आग बुझाने के लिए दौड़ पड़े। आग बुझाने में पांच ज्वलनशील यंत्र का उपयोग किया गया। इसके बाद आग पर काबू पाया गया।

छह घंटे लेट थी राज्यरानी
राज्यरानी का मेरठ से रवाना होने का समय सुबह 4.55 बजे का है, लेकिन लखनऊ से मेरठ राज्यरानी एक्सप्रेस रात के बजाय सुबह पांच बजे सिटी स्टेशन पहुंची। इसके बाद ट्रेन को छह घंटे की देरी से 10.41 बजे रवाना किया गया।
वलसाड का जोड़ा गया इंजन
राज्यरानी में 22615 कानपुर का इंजन जोड़ा गया था। इसके बाद इसे हटाकर 28649 वलसाड का इंजन जोड़कर राज्यरानी को दोपहर 12.05 बजे लखनऊ के लिए रवाना किया गया।

Posted By: Ashu Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप