मेरठ, जेएनएन। कोविड महामारी के बीच एक ओर जहां लोग अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं, वहीं दूसरी ओर जो जहां है, वहीं से एक-दूसरे की मदद की कोशिश भी कर रहा है। इसी कड़ी में स्कूल-कालेजों के छात्र-छात्रएं लोगों तक मदद पहुंचा रहे हैं। शहर के विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्रओं के संगठन स्टूडोमेटिक्स ने कोविड सहायता केंद्र की शुरुआत की है, जबकि स्माइल क्रिएटर जरूरतमंद लोगों तक खानपान की सामग्री के साथ ही स्वस्थ व स्वच्छ रहने को प्रेरित कर रहा है। दोनों संगठनों में सैकड़ों छात्र-छात्रएं जुड़े हें जो पढ़ाई के साथ ही महामारी के खिलाफ लड़ाई में भी योगदान दे रहे हैं।

मदद कर रहे, मददगार जोड़ रहे

स्टूडोमेटिक्स ने दो सप्ताह पहले कोविड सहायता केंद्र बनाया। सौ से अधिक छात्र-छात्रएं अब तक दिल्ली, नोएडा, हरियाणा, हैदराबाद, मेरठ, सहारनपुर आदि शहरों से जुड़ चुके हैं। ट्वीटर, इंस्टाग्राम, फेसबुक और वाट्सएप के जरिए जुड़कर लोगों को स्थानीय स्तर पर मदद की कोशिश की जा रही है। संगठन ने दो ग्रुप बनाए हैं, जिसमें एक में देशभर से मदद को तैयार वालंटियर्स को जोड़ा जा रहा है तो दूसरे में मदद करने की प्रक्रिया को शामिल किया गया है।

हाजी कल्लू चेरिटेबल ट्रस्ट ने बांटी खाद्य सामग्री

हाजी कल्लू चेरिटेबल ट्रस्ट के संस्थापक हाफिज गयासुद्दीन कुरैशी ने मंगलवार को पटेल नगर स्थित अपने निवास पर गरीबों को खाद्य सामग्री बांटी। यह खाद्य सामग्री निश्शुल्क वितरित की गई। उन्होंने बताया कि वे अपने पिता की याद में गरीबों को निश्शुल्क खाद्य सामग्री वितरित करते हैं। इस मौके पर उनके बेटे वसीम कुरैशी, दानिश कुरैशी, नवाजिश कुरैशी समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

गरीबों को राशन के पैकेट बांटे

जमीयत उलमा ए हिंद के पदाधिकारियों ने मंगलवार को मुफतीवाड़ा में गरीबों को राशन की पैकेट बांटे। संगठन के जिलाध्यक्ष काजी जैनुर राशिदीन ने कहा कि गरीबों को ईद के त्योहार के लिए खाने पीने की सामग्री प्रदान की गई। कहा मंगलवार को सउदी में चांद नजर नहीं आया। बुधवार को चांद कमेटी बैठक में ईद का चांद देखे जाने की बाबत निर्णय लिया जाएगा।

स्माइल क्रिएटर सदस्य तनिष्क कपूर ने कहा- हम लोगों को कोविड संबंधी जरूरतों की सटीक जानकारी मुहैया कराने के साथ ही शहर के विभिन्न क्षेत्रों में रहने वालों को मदद पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं, जिससे लाकडाउन के दौरान किसी को भूखा न रहना पड़े। कोशिश यही है कि जितने लोगों तक संभव हो मदद पहुंचा सकें।

स्टूडोमेटिक्स निदेशक अवनी सिंह ने कहा- स्टूडोमेटिक्स कोविड-10 सहायता केंद्र के नाम से इंटरनेट मीडिया पर लोग हमसे जुड़ सकते हैं। इस कार्य में जुड़ने वाले छात्र-छात्रओं को हम संगठन की ओर से समाजसेवी प्रमाण-पत्र भी प्रदान करेंगे जिससे और लोग भी इस कार्य में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित हों।

आक्सीजन सिलेंडर पहुंचा रहे एबीवीपी कार्यकर्ता

छात्र संगठन एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को सेवा कार्यो के तहत गंगानगर के सी पाकेट में एक बुजुर्ग की मांग पर निश्शुल्क आक्सीजन सिलेंडर पहुंचाया। साथ ही शास्त्रीनगर व मेडिकल कालेज के पास दो परिवारों को एक-एक निश्शुल्क सिलेंडर उपलब्ध कराए। पिछले माह उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने के साथ ही एबीवीपी मेरठ प्रांत की ओर से मेरठ समेत प्रांत में आने वाले सभी जिलों के लिए हेल्पलाइन नंबर शुरू किए गए थे। मेरठ महानगर से अध्यक्ष डा. अंशु शर्मा व प्रांत कार्यालय प्रमुख उत्तम सैनी के नंबर जारी हुए थे। हेल्पलाइन नंबर की काल पर मदद के साथ-साथ कार्यकर्ता अन्य माध्यम से लोगों की सहायता में लगे हैं। इसमें मेडिकल कालेज के अलावा ओम हास्पिटल व अन्य कोविड अस्पतालों में दूर-दराज से आने वाले संक्रमितों के स्वजन को भोजन उपलब्ध कराया। प्रांत कार्यालय प्रमुख उत्तम सैनी ने बताया मंगलवार को कुल तीन आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराए गए।

गोकुल विहार में बांटी निश्शुल्क खाद्य सामग्री

कोरोना महामारी के चलते जनजीवन अस्त -व्यस्त है। इस समय जरूरतमंदों के सामने दो वक्त की रोटी की चिंता है। लाकडाउन के चलते उन्हें काम भी नहीं मिल रहा है। ऐसे में रोहटा रोड स्थित गोकुल विहार कालोनी निवासी गजेंद्र फौजी ने मलियाना व जवाहर नगर बस्ती में जरूरतमंदों को भोजन सामग्री वितरित की।