मेरठ, जेएनएन। Fake petrol मिलावटी पेट्रोल बनाने के मुख्य आरोपित राजीव जैन पर मंगलवार को रासुका की कार्रवाई कर दी गई। देर रात कप्तान की संस्तुति पर डीएम ने हस्ताक्षर कर दिए। बाकी आरोपितों के खिलाफ भी रासुका की तैयारी की जा रही है। 20 अगस्त को आइजी आलोक सिंह के आदेश पर वेदव्यासपुरी में पारस केमिकल और देवपुरम में गणपति पेट्रोकैम पर छापाकर 2.20 लाख लीटर मिलावटी पेट्रोल पकड़ा था।

अन्‍य आरोपितों को नहीं बख्‍शेंगे

मौके से पुलिस ने आरोपित राजीव जैन, श्वेत, उमेश, तफशीराम, प्रदीप गुप्ता, आकाश गर्ग, आनंद प्रकाश, रविंद्र कुशवाह, राजवीर और राजकुमार को जेल भेज दिया। दोनों फर्म से लिए नमूने तीन लैब में भेज दिए। दोनों फर्मो की जांच के लिए एसआइटी गठित की गई थी। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि आरोपित राजीव जैन पर रासुका की कार्रवाई कर दी गई। तर्क दिया कि मिलावटी पेट्रोल से महानगर में जनजीवन प्रभावित हो गया है। ऐसे आरोपित यदि जेल से बाहर आ गए थे समाज की सुरक्षा के लिए खतरा बन सकते हैं। उन्‍होंने बताया कि राजीव जैन के बाद अब दूसरे आरोपितों पर भी रासुका की कार्रवाई की जाएगी।  

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस