बागपत, जेएनएन। Encounter In Baghpat पुलिस मुठभेड़ में मारे गए जावेद के कहने पर ही उसके साथियों ने सिपाही मनीष से लूट की थी और विरोध पर गोली मारी थी। सिपाही मनीष यादव निवासी ग्राम डालूहेड़ा (Meerut) को गत सात सितंबर को ढिकौली-बंथला मार्ग पर ग्राम रोशनगढ़ के गेट के निकट बुलेट व अपाचे बाइक सवार चार बदमाशों ने गोली मार दी थी। बाद में मनीष की मेरठ के केएमसी हास्पिटल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। बदमाशों ने उनसे पर्स के साथ बीस हजार रुपये लूट लिए थे।

पुलिस की जांच में सामने आया था कि जावेद पुत्र इकराम निवासी कांधला शामली हाल निवासी धोबी तालाब निकट शीशे वाली मस्जिद लोनी अपने साथियों के साथ पिलाना चौराहे पर बैठकर शराब पी रहा था। इसी दौरान मनीष बाइक पर आता दिखाई दिए। जावेद के कहने पर उसके साथियों ने मनीष की लूट के इरादे से बाइक रुकवाने का प्रयास किया था, लेकिन मनीष ने बाइक नहीं रोकी। पीछा कर मनीष की बाइक को रुकवाया गया था। इस दौरान गाली-गलौज व मारपीट करते हुए मनीष को गोली मार दी थी। फिर उनका पर्स सहित बीस हजार रुपये लूटकर फरार हो गए थे।

इनको पुलिस पहले ही कर चुकी है गिरफ्तार इस मामले में पुलिस नदीम उर्फ हकला पुत्र रहीसुद्दीन निवासी ग्राम ललियाना हाल निवासी खन्ना नगर लोनी (गाजियाबाद) व इमरान पुत्र सत्तार निवासी ग्राम रोशनगढ़ को गिरफ्तार कर चुकी है।

Encounter In Baghpat: सिपाही का हत्यारोपित लखटकिया इनामी ढेर, पुलिस को चकमा देकर साथी फरार

एसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि सिपाही मनीष यादव की हत्या में चार बदमाश शामिल थे, जिनमें से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। 50 हजार का इनामी हसन मौके से फरार हो गया है। जावेद पर लूट, डकैती, अपहरण आदि के 19 मुकदमे दर्ज थे। जावेद अपने साथियों के साथ दिल्ली और एनसीआर में आपराधिक घटनाओं को अंजाम देता था।  

Edited By: Himanshu Dwivedi