मेरठ, जागरण संवाददाता। लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज के हास्टल में डिप्लोंमा इन मेडिकल रेडियो डायग्नोसिस (डीएमआरडी) की छात्रा मोनिका दुबे ने फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। साथी छात्रों ने दरवाजा तोड़कर शव को फंदे से उतारा। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। फिलहाल आत्‍महत्‍या के कारण स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है।

प्रयागराज के पूरनपुर गांव निवासी छात्रा मोनिका दुबे मेडिकल कालेज में डीएमआरडी रेडियोलाजी की छात्रा थीं। उनकी लिखित और प्रयोगात्मक परीक्षा हो गई थी, जिसके बाद वह छुट्टी में घर चली गई थीं। सोमवार को ही वह घर से लौटी थीं। मंगलवार सुबह मोनिका ने अपनी ड्यूटी भी की। रात को मोनिका के पति प्रयागराज से उनको फोन कर रहे थे, लेकिन वह उठा नहीं रहीं थीं।

इसके बाद पति ने सहपाठी छात्र डा. आसिफ को फोन किया। उन्होंने भी डा. मोनिका को फोन किया, लेकिन बात नहीं हो सकी। इसके बाद उन्होंने हास्टल में रहने वाली अन्य छात्राओं को फोन किया। उन्होंने मोनिका के कमरे का दरवाजा खटखटाया तो वह अंदर से बंद था।

अनहोनी की आशंका के चलते दरवाजा तोड़ दिया। मोनिका का शव फंदे पर लटका हुआ था। मोनिका दुबे को फंदे से नीचे उतारकर इमरजेंसी ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने मौत की पुष्टि कर दी। सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। इसके बाद मृतका के स्वजन को जानकारी दी गई। वह बुधवार सुबह तक मेरठ पहुंचेंगे।

मेडिकल कालेज थाना प्रभारी संतशरण सिंह ने बताया कि शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। कमरे से सुसाइड नोट नहीं मिला है। थाना प्रभारी ने बताया कि मोनिका का मायका शिकोहाबाद में और सुसराल प्रयागराज के पूरनपुर गांव में है। आत्‍महत्‍या के कारण अभी स्‍पष्‍ट नहीं हो पाए हैं।

Edited By: Umesh Tiwari