मेरठ, जेएनएन। निर्भया के गुनहगारों की फांसी की तारीख मुकर्रर होने के बाद अब सबकी निगाह 22 जनवरी पर लगी है। बुधवार को जेल में बुलाकर पवन जल्लाद को फांसी की बारीकियां बताई गईं। 15 जनवरी तक रोजाना जेल में उसकी उपस्थिति भी अनिवार्य कर दी गई है।

शहर से बाहर नहीं जा सकेंगे

दिल्ली प्रशासन की मांग पर मेरठ के कांशीराम नगर निवासी पवन जल्लाद को तैयार किया जा रहा है। बुधवार को वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने पवन को जेल में बुलाकर उपस्थिति दर्ज कराई। उसकी रोजाना उपस्थिति के लिए रजिस्टर लगवाया है और उसके शहर से बाहर जाने पर रोक लगा दी है।

ताकि उस वक्‍त वचलित न हो

डीजी आनंद कुमार ने वरिष्ठ जेल अधीक्षक बीडी पांडेय को मौखिक आदेश दिया है कि पवन जल्लाद को फांसी की बारीकियां बताई जाएं, ताकि फांसी लगाते समय वह विचलित न हो। पवन को बताया गया कि फांसी लगाने के एवज में दिल्ली सरकार उन्हें मानदेय भी देगी। उधर, पवन ने मीडियाकर्मियों को बताया कि अपने दादा से उसने फांसी की बारीकियां सीख रखी हैं। चारों को एक साथ फांसी देगा।

15 जनवरी से होगा रिहर्सल

22 जनवरी को सुबह सात बजे निर्भया के गुनहगारों को फांसी दी जानी है। ऐसे में 15 जनवरी को दिल्ली सरकार पवन को रिहर्सल के लिए बुला सकती है। दरअसल, पवन के अलावा कुछ अन्य जल्लाद भी तैयार किए गए हैं। देखना यह है कि पवन को रिजर्व में रखा जाएगा या वही चारों को फांसी देगा। वरिष्ठ जेल अधीक्षक बीडी पांडेय ने बताया कि पवन जल्लाद को पूरी जानकारी है, फिर भी रिहर्सल जरूरी है।

जल्द मिल सकती है सुरक्षा

पवन जल्लाद को सुरक्षा भी मुहैया कराई जा सकती है। इस संबंध में पुलिस प्रशासन को जारी पत्र में कहा है, यदि पवन खुद को असुरक्षित महसूस करे तो उसे सुरक्षा दी जा सकती है। हालांकि अभी तक पवन ने सुरक्षा पहलू पर जेल प्रशासन को कोई जानकारी नहीं दी है।

इनका कहना है

वरिष्ठ जेल अधीक्षक को पवन जल्लाद को तैयार रखने को कहा गया है। कुछ जल्लाद फांसी के समय रिजर्व में भी रखे जाएंगे। मेरठ और लखनऊ जल्लाद को तैयार किया जा रहा है। दिल्ली सरकार को दोनों जल्लाद मुहैया करा दिए जाएंगे।

- आनंद कुमार, डीजी जेल

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस