मेरठ, जेएनएन। खंड विकास कार्यालय मवाना की ओर से सबमिशन आन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन आत्मा योजना अंतर्गत सोमवार को गांव कोहला स्थित प्राइमरी पाठशाला में कृषि गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें किसानों को फसल उत्पादन बढ़ाने व फसल अवशेष प्रबंधन के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई।

गोष्ठी में सहायक विकास अधिकारी कृषि इंद्रपाल सिंह ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना, कृषि यंत्रीकरण योजना, ग्राम बीज योजना, मृदा स्वास्थ्य के साथ साथ विभाग द्वारा रवी-2021-22 में गेहूं, चना, मटर, मसूर आदि के बीजों की प्रजातियों के विषय में जानकारी दी। फसल अवशेष प्रबंधन पर मिलने वाले यंत्र अनुदान पर मिल रहे हैं।

सरदार वल्लभ भाई पटेल विवि, मोदीपुरम, मेरठ के पशुपालन विभाग अधिकारियों ने पशुपालन के विषय में जानकारी दी। साथ ही डीकंपोजर यंत्र के विषय में भी बताया तथा फसल अवशेषों की कंफेस्ट बनाने की भी जानकारी प्रदान की। गोष्ठी में श्रीपाल सिंह सिंह, विजय, नवनीत बीज भंडार प्रभारी व किसान मौजूद रहे।

छात्राओं को दी घरेलू हिसा की जानकारी : खरखौदा के राजकीय महिला महाविद्यालय में सोमवार को मिशन शक्ति अभियान के तहत घरेलू हिसा और समाधान के विषय पर आनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बरेली के अधिवक्ता शरद कुमार रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्या डा. रेखा रानी तिवारी ने की। कार्यक्रम का आयोजन डा. अंशु ने किया। छात्राओं को घरेलू हिसा के बारे में जानकारी देकर जागरूक किया। साथ ही उसके समाधान के उपाय भी बताए। इस मौके पर डा. राधेश्याम, डा. नीलम सिंह, डा. गीता गुप्ता, डा. सीमा गौतम, डा. अंजलि शर्मा, डा. मोहित मलिक समेत आदि लोग थे।

Edited By: Jagran