बागपत, जेएनएन। बुखार से तो घर-घर में पीड़ित है, उसके साथ डेंगू और टाइफाइड बुखार ने भी लोगों को जकड़ा हुआ है। भाजपा जिलाध्यक्ष सूरजपाल सिंह की पत्नी और तीन परिवार के सदस्य को डेंगू हो गया है।

प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा है। ऐसे भी लोग हैं, जो प्राइवेट अस्पतालों में डेंगू का इलाज करा रहे हैं। इनका स्वास्थ्य विभाग के पास कोई रिकार्ड नहीं है। डेंगू से पीड़ितों की संख्या बढ़ रही है। प्राइवेट अस्पतालों में पीड़ित इलाज करा रहे हैं। सरकारी अस्पतालों में संख्या कम हैं। ऐसे अनगिनत लोग हैं, जिन्हें डेंगू हुआ है और उन्होंने प्राइवेट में ही इलाज कराना मुनासिब समझा।

इसका स्वास्थ्य विभाग के पास कोई रिकार्ड नहीं है। जो स्वास्थ्य विभाग जांचे करा रहा है उनका ही रिकार्ड विभाग के पास है। जबकि आंकड़ा कुछ ओर है। लोग बीमारी का दंश झेल रहे हैं। भाजपा जिलाध्यक्ष सूरजपाल सिंह की पत्नी और तीन अन्य स्वजन को डेंगू हो गया। इससे पहले बच्चे पीड़ित हो गए थे।

गांव में डेंगू का प्रकोप बढ़ रहा है। लोगों में दहशत है। बागपत सीएचसी के अधीक्षक डा. विभाष राजपूत ने उनके गांव बुढेड़ा में हेल्थ कैंप लगाकर लोगों का इलाज किया। यहां पर 85 मरीज देखे गए, जिसमें से 35 मरीज सर्दी, जुकाम, बुखार से पीड़ित पाए गए। इन सभी की मलेरिया, डेंगू और टाइफाइड की जांच कराई गई। प्रारंभिक जांच में नौ मरीज टाइफाइड के संदिग्ध मिले। शिविर में डा. रामकुमार शर्मा, मनोज फार्मासिस्ट, धर्मेंद्र लैब टेक्नीशियन एवं सभी संबंधित आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहीं।

 

Edited By: Taruna Tayal