मेरठ, जेएनएन : बकरीद पर कुर्बानी के बाद उत्पन्न अपशिष्ट को गड्ढा खोदकर दबाने के बजाए नगर निगम ने एनएच 235 हापुड़ रोड किनारे फेंक दिया है। इससे यहां भीषण दुर्गध उठ रही है। गुजरने वाले राहगीरों का सांस लेना दुश्वार है। राहगीर मुंह और नाक पर रुमाल या हाथ लगाकर दुर्गध के बीच से निकलने को मजबूर हैं।

शुक्रवार दोपहर दो बजे हापुड़ रोड स्थित लोहियानगर कूड़ा डंपिंग स्थल का जायजा लिया गया तो नगर निगम के दावे हवाई निकले। एनएच 235 मेरठ से बुलंदशहर को जाने वाले हाइवे के दोनों छोर पर जाहिदपुर इंटर कॉलेज के समीप नगर निगम की कूड़ा गाड़ियों ने कुर्बानी के बाद उत्पन्न अपशिष्ट को शहर से लेकर फेंक दिया है। करीब दो ट्रॉली से अधिक अपशिष्ट हाइवे किनारे पड़ा है। वहीं नगर निगम की कूड़ा गाड़ियां अभी अपशिष्ट यहां पर शहर से ला भी रही हैं। एक कूड़ा गाड़ी में दो भैसों के अपशिष्ट भी देखे गए। नगर निगम अधिकारियों ने दावा किया था कि उन्होंने कुर्बानी से पहले और कुर्बानी के बाद दो तरह की सफाई व्यवस्था का इंतजाम किया है। कुर्बानी के बाद अपशिष्ट लोहिया नगर कूड़ा डंपिंग ग्राउंड लेकर गड्ढा खोदकर नमक व कीटनाशक डालकर निस्तारण किया जाना था। स्थिति यह है कि सड़क किनारे खुले में फैला अपशिष्ट संक्रामक बीमारियों को जन्म दे सकता है। हालांकि निगम अधिकारी इससे बेखबर हैं।

वर्जन:---

-निगम की ओर से गड्ढे खोदकर अपशिष्ट का निस्तारण की व्यवस्था बनाई गई थी। इसका पालन पूरी तरह क्यों नहीं किया गया है। नगर स्वास्थ्य अधिकारी से जानकारी लेंगे। लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

-अमित कुमार सिंह, अपर नगर आयुक्त।

भीड़ बढ़ी तो फुटपात तक पहुंच गए अकीदतमंद

मेरठ : हापुड़ रोड स्थित मलियाना मस्जिद में नमाज के दौरान संख्या बढ़ने पर अकीदतमंद को फुटपाथ पर बैठाना पड़ा। आधे से अधिक फुटपाथ पर अकीदतमंद की बाइक खड़ी हुई थी। सीओ दिनेश शुक्ला मौके पर मौजूद रहे। उनका कहना है कि मस्जिद के सदर ने भरोसा दिलाया कि अगले जुमे तक नमाजियों को मस्जिद के अंदर ही ले जाया जाएगा। पोस्टर लगाकर भी सभी को आदेश किया गया है। नमाज के बाद मस्जिद के बाद एलान भी कर दिया। भीड़ अधिक होने की वजह से फुटपाथ तक अकीदतमंद आ गए थे। नमाज से यातायात पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप