मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मेरठ, जेएनएन। भाजपा के क्षेत्रीय कार्यालय पर बुधवार को सभा कर पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि दी गई। भाजपाइयों ने दिवंगत नेता को याद किया। क्षेत्रीय संगठन मंत्री अजेय ने कहा कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 हटाने की बधाई ट्विटर पर दी, किंतु शाम को गंभीर हालात में अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। वो बेहतरीन वक्ता एवं बेहद तार्किक थीं। संसदीय कार्य प्रणाली की गहरी जानकारी थी।
योगदान का भुलाया नहीं जा सकता
महानगर अध्यक्ष मुकेश सिंघल ने कहा की सुषमा स्वराज ने सभी दलों का सम्मान जीता। दक्षिण विधायक सोमेंद्र तोमर ने कहा कि सुषमा स्वराज राजनीति में आदर, गरिमा और ज्ञान की प्रतिमूर्ति मानी गईं। कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल ने कहा में सुषमा स्वराज का राजनीति में योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। अमित अग्रवाल, बिजेंद्र अग्रवाल, विपिन सोढ़ी, करुणोश नंदन गर्ग व प्रवक्ता गजेंद्र शर्मा और अमित शर्मा समेत कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।
ये रहे मौजूद
वहीं, भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के नेता विनीत शारदा ने कैंप कार्यालय पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन कर दिवंगत नेता सुषमा स्वराज को याद किया तथा उनके शोक में इस वर्ष अपना जन्मदिन नहीं बनाने की घोषण की। महानगर संयोजक अरविंद गुप्ता मारवाड़ी ने भी विचार रखे। श्रद्धांजलि सभा में अमित जैन, कुलदीप शर्मा, योगेंद्र सिंह, ऋषिपाल, उमेश शारदा, अकरम खान, अतुल गुप्ता व अखिलेश गुप्ता समेत कई अन्य शामिल हुए।
बार एसोसिएशन ने जताया शोक
मेरठ बार एसोसिएशन ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन पर बुद्धवार को दोपहर बाद पंडित नानक चंद सभागार में शोक सभा आयोजित की। अध्यक्षता एसोसिएशन अध्यक्ष मांगेराम व संचालन नरेश दत्त शर्मा ने किया। उधर, अधिवक्ता परिषद मेरठ इकाई द्वारा भी शोक सभा आयोजित की गई। परिषद के महामंत्री ओमकार तोमर ने बताया कि अधिवक्ता प्रमोद कुमार के चेम्बर पर एक शोक सभा आयोजित की गई जिसमें दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई।चरण सिंह त्यागी, प्रमोद कुमार, विजय त्यागी, राजीव शर्मा, राजकुमार, विशाल राणा, झम्मन सिंह, जगत सिंह चिकारा, सुभाष दत्त शर्मा आदि मौजूद रहे।
छात्रों ने सुना सुषमा स्वराज का उद्बोधन
चौ. चरण सिंह विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग में बुधवार को पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर शोक सभा हुई। इसमें सुषमा स्वराज के राजनीतिक जीवन से जुड़ पहलुओं पर चर्चा की गई। पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन से उनके प्रमुख भाषण को भी सुनाया गया। जिसमें संसद, संयुक्त राष्ट्र सभा के भाषण रहे। डा. मनोज कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि विदेश मंत्री के कार्यकाल में उन्होंने अनेक ऐसे उदाहरण पेश किए जो गौरव करने योग्य है। विभागाध्यक्ष डा. प्रशांत ने कहा कि स्वर्गीय सुषमा स्वराज का राजनीतिक कौशल सर्वमान्य है। विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर उन्होंने भारत का पक्ष मजबूती से रखा। छात्रों व शिक्षकों ने दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी।

भारतीय सभ्यता और संस्कृति की प्रतिमूर्ति बताया
सेंट्रल मार्केट में व्यापारियों ने बुधवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि दी। भाजपा नेता विनीत अग्रवाल शारदा और सेंट्रल मार्केट व्यापार संघ के अध्यक्ष किशोर वाधवा ने दिवंगत नेता के चित्र के सम्मुख पुष्प अर्पित किए और मोमबत्ती जलाई। वक्ताओं ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री न सिर्फ राजनेता थी बल्कि भारतीय सभ्यता और संस्कृति की मिसाल थीं। हर व्यक्ति की समस्याओं पर वह संज्ञान लेती थीं और निस्तारण करने का प्रयास करती थीं। जीतेंद्र अग्रवाल अट्टू, नरेंद्र राष्ट्रवादी, सतीश विरमानी, महिपाल मलिक आदि मौजूद रहे। 

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ashu Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप