बिजनौर, जागरण संवाददाता। Commonwealth Games 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में क्रिकेट में सिल्वर मेडल जीतकर लौटीं मेघना सिंह घर आने पर स्वजन एवं ग्रामीणों ने स्वागत किया गया। हालांकि मेघना सिंह को गोल्ड मेडल न जीतने का मलाल है। मेघना सिंह का कहना है कि भारतीय खिलाड़ियों ने पूरे खेल के दौरान शानदार प्रदर्शन किया। खासतौर से बेटियों के प्रदर्शन की सभी ने प्रशंसा की।

मेडल जीतने से बढ़ जाती है हिम्‍मत

भारतीय क्रिकेट टीम की ओर से लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहीं तेज गेंदबाज मेघना सिंह ने बताया कि टीम को शुरू से ही शानदार प्रदर्शन की उम्मीद थी। जब बाकी खेलों में भारत के खिलाड़ी मेडल जीतते थे तो उनकी हिम्मत और भी बढ़ जाती थी। टीम के सभी सदस्य अपने देश के खिलाड़ियों के जीतने के बारे में बताते थे और हर मैच के लिए अलग रणनीति पर काम करते थे। टीम का हर खिलाड़ी अपना शत-प्रतिशत देने के लिए पूरी मेहनत करता था।

पाक के खिलाफ था अधिक दबाव

उन्होंने बताया कि पूरे टूर्नामेंट में किसी भी टीम को हल्के में नहीं लिया। आस्ट्रेलिया और पाकिस्तान की टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव सबसे अधिक था। पाकिस्तान को तो हरा दिया लेकिन आस्ट्रेलिया से दोनो मैच हार गए। मेघना सिंह का कहना है कि गोल्ड मेडल जीतते तो बात ही कुछ और होती। कहा कि फिर भी टीम का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा है।

इंग्लैड दौरे पर जाएगी

व्यक्तिगत प्रदर्शन पर भी वे संतुष्ट हैं। उन्होंने बताया कि सितंबर में टीम इंग्लैड दौरे पर जाएगी। अब उसका फोकस इंग्लैड दौरे में टीम में शामिल होना है। वह अपनी फिटनेस पर पूरी मेहनत कर रही हैं। बताया कि वे मुरादाबाद रेलवे में अपनी ड्यूटी पर लौटेंगी और वहीं रहते हुए प्रैक्टिस करेंगी। बताया कि जहीर खान उनके पसंदीदा बालर हैं। वे उनकी तरह यार्कर बाल डालने की कोशिश करती हैं। यार्कर के आगे बल्लेबाज बेबस हो जाता है।

मेघना को तिरंगा व कंपोजिट गैस सिलेंडर देकर किया सम्मानित

राष्ट्रमंडल खेल में रजत पदक जीतकर घर लौटने पर भारतीय महिला क्रिकेट टीम का हिस्सा बनी मेघना सिंह गुरुवार को पहली बार घर पहुंची। कोतवाली देहात में घर पहुंचने पर इंडियन गैस एजेंसी कोतवाली स्वामी ऋषि पाल सिंह व सहयोगी अक्षय कुमार और अवनीश कुमार गुरुवार को उनके घर पहुंचे। उन्होने क्रिकेटर मेघना सिंह के घर पहुंचकर उसे रक्षाबधंन के पावन अवसर पर तिरंगा व कंपोजिट गैस सिलेंडर देकर सम्मानित किया। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt