मेरठ,जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जून के आखिरी रविवार को मन की बात में जल संरक्षण का मुद्दा उठाया। डीडी न्यूज पर प्रसारित इस कार्यक्रम में मेरठ ने भी जगह बनाई। क्लब-60 की ओर से शास्त्रीनगर के दो पार्कों में स्थापित रेन वाटर हार्वेस्टिंग यूनिट की प्रधानमंत्री ने प्रशंसा की।
क्लब-60 ने बेहतरीन काम किया
मन की बात में प्रधानमंत्री जिन मुद्दों को शामिल करते हैं,उन मुद्दों से संबंधित यदि कोई संस्था या व्यक्ति कार्य कर रहा होता है तो उसकी वीडियो फुटेज डीडी न्यूज पर दिखाई देती है। इस रविवार को मुद्दा जल संरक्षण था। जल संरक्षण के क्षेत्र में क्लब-60 ने बेहतरीन काम किया है। शास्त्रीनगर के जय हिंद सोसायटी में क्लब-60 ने चंदा एकत्र करके टैगोर पार्क व श्रीकृष्ण पार्क में रेन वाटर हार्वेस्टिंग यूनिट स्थापित कराई है।
पीएमओ कार्यालय तक पहुंची जानकारी
टैगोर पार्क में तीन साल पहले और श्रीकृष्ण पार्क में इसी महीने 24 तारीख को यूनिट की स्थापना हुई है। इस संस्था के कार्य से प्रभावित होकर सोसायटी के सरदार अजित सिंह ने भी अपने घर में यूनिट स्थापित कराई है। कुछ अन्य लोग भी तैयारी कर रहे हैं। पीएमओ कार्यालय तक भी इसकी जानकारी पहुंची। इसके बाद प्रधानमंत्री के मन की बात कार्यक्रम में इसे शामिल किया गया। कार्यक्रम में दोनों पार्क की यूनिट दिखाई गई हैं। इसमें क्लब 60 के हरि विश्नोई,सरदार अजित सिंह आदि दिखाई दे रहे हैं।
क्या है क्लब-60
क्लब-60 सेवानिवृत्त अधिकारियों-कर्मचारियों की संस्था है। जय हिंद सोसायटी निवासी महेश रस्तोगी और हरि विश्नोई इस संस्था को संचालित कर रहे हैं। सोसायटी में यह संस्था विभिन्न गतिविधियां संचालित करती है। शिक्षा सेतु के नाम से गरीब बच्चों को पढ़ाते हैं तो वहीं पार्क की पत्तियों आदि से खाद भी बनाते हैं। इस संस्था के सहयोग से ही टैगोर पार्क को संवारा गया है। पौधों को पानी देने के लिए ऐसी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है,जिससे पानी बर्बाद न हो। यह सोसायटी एच और जे ब्लॉक को मिलाकर बनाई गई है।
इनका कहना है
दैनिक जागरण के सात सरोकार जल संरक्षण और प्रधानमंत्री मोदी के विभिन्न सरोकारों में दिलचस्पी से प्रेरणा मिली। क्लब-60 लोगों के सहयोग से विभिन्न कार्य कर रही है।
- हरि विश्नोई, सदस्य, क्लब-60
पर्यावरण के लिए हम सभी को अपने स्तर से योगदान करना चाहिए। हमारे छोटे प्रयास को मन की बात में जगह मिली यह मेरठ के लिए गर्व की बात है। इससे लोगों को प्रेरणा मिलेगी।
- महेश रस्तोगी, संस्थापक, क्लब-60 

Posted By: Ashu Singh