मेरठ (जेएनएन)। मेरठ के कंकरखेड़ा में सरधना रोड पर वक्फ की नौ बीघा जमीन पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था, जिसमें शिया वक्फ के चेयरमैन समेत 12 लोगों को आरोपी बनाया था। पुलिस ने साक्ष्य जुटाने के बाद वक्फ बोर्ड के चेयरमैन समेत चार के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी।

20 अप्रैल को मेरठ के कंकरखेड़ा थाने में कोतवाली के ठठेरवाड़ा निवासी शहजाद अब्बास नकवी की ओर से धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी, मुंतजीर निवासी जाफरिया कालोनी ठाकुरगंज, जिया अब्बास निवासी अब्दुल्लापुर भावनपुर, अख्तर अब्बास निवासी जैदीफार्म नौचंदी, दानिस अब्बास, अब्दुल वाहिद, मोबिन कुरैशी, गुलाम सैयद रिजवी, उत्सव, राहुल, मूलचंद मित्तल समेत 12 लोगों को आरोपी बनाया था।

मुकदमे में रजिस्ट्रार कार्यालय के कर्मचारियों को भी नामजद किया था। सभी आरोपियों ने हाईकोर्ट से गिरफ्तारी स्टे ले लिया था। पुलिस अभी तक शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी, मुंतजिर, जिया अब्बास और अख्तर अब्बास के खिलाफ ही साक्ष्य जुटा पाई है।

यह भी पढ़ें: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को लेंगे यूपी के मंत्रियों की क्लास

पुलिस ने 19 जुलाई को चारों आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल कर दिया है। कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल ने बताया कि चार के खिलाफ चार्जशीट देने के बाद अभी विवेचना जारी है। सभी ने अदालत से गिरफ्तारी स्टे ले लिया है, जिसके चलते किसी की गिरफ्तारी नहीं की जा रही है।

यह भी पढ़ें: योगी सरकार के कामकाज पर अपने ही उठा रहे सवाल

Posted By: amal chowdhury

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप