मेरठ, जेएनएन। Firing in University परिवहन मंत्री के स्वागत से आधा घंटे पहले बुधवार को विश्वविद्यालय में ताबड़तोड़ फायरिंग की गई। दो छात्रों के पैर में गोली लगी। इससे मंत्री के स्वागत में जमा भीड़ में अफरा-तफरी मच गई। मौके पर मौजूद पुलिस हमलावरों के पीछे दौड़ी, तब तक आरोपित फरार हो चुके थे। घायल छात्रों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने फायरिंग करने वाले छह आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। इस बीच गुरुवार को दोपहर में मेडिकल कॉलेज के पास काली नदी पर पुलिस मुठभेड़ में विश्वविद्यालय में दोनों छात्रों को गोली मारने का आरोपित कादिर पुलिस मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से घायल हो गया। आज सुबह ही एसएसपी ने कादिर पर बीस हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। पुलिस अब कादिर से पूछताछ करेगी। 

पुलिस बल के बावजूद दस राउंड फायरिंग
बुधवार सुबह चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के गेट पर परिवहन मंत्री अशोक कटारिया के स्वागत के लिए भाजपाइयों की भीड़ जमा थी। बड़ी संख्या में पुलिस बल भी लगाया हुआ था। विवि में करीब दस राउंड गोलियां चलीं। पुलिस के मुताबिक, फायरिंग मवाना के असीलपुर कोठड़ा निवासी गौरव और आशु काजला उर्फ आशीष निवासी पुरमाफी शामली गुट में हुई है।

केस दर्ज कर तलाश शुरू
आशु काजला गुट के युवकों की ओर से हुई फायरिंग में गौरव का ममेरा भाई मनीष निवासी बुडम थाना फलावदा और दोस्त शानू निवासी नासपुर मवाना घायल हो गए। गौरव की तरफ से आरोपित आशु काजला, उसके साथी कादिर निवासी कायस्थ बढ्ढा किठौर, दीपक निवासी कंकरखेड़ा, आदित्य तोमर सिसौली, मोंटी और सागर को नामजद किया गया है। पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी।

निष्कासित हो चुका
दो दिन पहले भी आशु काजला गुट ने कैंपस में गौरव गुट पर फायरिंग की थी, जिसमें आशु को निष्कासित कर दिया गया था। आशु विवि से बीबीए कर रहा था। गौरव भी एमए द्वितीय वर्ष का छात्र है।

इनका कहना है
दोनों गुटों में वर्चस्व को लेकर विवि में फायरिंग हुई है। गौरव की तरफ से आशु काजला समेत छह छात्रों पर जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों की तलाश में दबिश डाली जा चुकी है। आशु काजला पर पांच हजार का इनाम घोषित कर दिया है।
- अखिलेश नारायण सिंह, एसपी सिटी 

Posted By: Prem Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप