बिजनौर, जेएनएन। बास्टा रोड स्थित जमीन में विवाद को लेकर विहिप व भाजपा नेताओं पर मुकदमा दर्ज किया गया। मामले में 17 लोगों को नामजद किया गया है। पचास अज्ञात हैं। जिला अमरोहा के नौगांवा निवासी शाहआलम ने बताया कि उसके चाचा नदीम अब्बास निवासी बटला हाउस ओखला दिल्ली ने 15 वर्ष पूर्व बास्टा रोड पर एक भू भाग खरीदा था। इसमें काफी समय से आम का बाग है।

यहां समझे पूरा मामला

पांच जुलाई की सुबह करीब साढ़े दस बजे 50 से अधिक लोग वहां पहुंचे और हंगामा करने लगे। गाली-गलौच करते हुए उन्होंने मारपीट की। मामले को सांप्रदायिक रंग देने का भी प्रयास किया गया। अपने साथ लाई ट्रैक्टर ट्रॉली में सीमेंट के बोरे, चारपाई, कुर्सियां और अन्य सामान भरकर ले गए। पीडि़त ने मोहल्ला गोकुल निवासी कपिल चौधरी विहिप विभाग अध्यक्ष के साथ वीरेंद्र राजपूत, सचिन चौधरी, बिट्टू अग्रवाल, मंजीत चौधरी, छोटे पंडित, मनोज कुमार, सुमित नारायण अग्रवाल, प्रशांत जोशी, रॉकी जोशी, सुमित बजरंगी, एक सभासद सहित 50 अज्ञात लोगों पर कब्जा करने का भी आरोप लगाया। बताया कि इनमें अधिकांश भाजपा और विहिप के पदाधिकारी हैं।

पुलिस ने शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की। वहीं, सीओ राकेश श्रीवास्तव ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर कपिल चौधरी समेत 17 लोग नामजद और 50 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है।

बोले विहिप नेता

विश्व हिंदू परिषद के विभाग अध्यक्ष कपिल चौधरी ने बताया कि जमीन को लेकर किसी तरह का विवाद नहीं है। हमारी जमीन, हमारी सरकार और हम पर ही मुकदमे हो रहे हैं, जबकि दूसरा पक्ष मुस्लिम है और उस पर पूर्व में इस जमीन के मामले में मुकदमा दर्ज है। यदि इस मामले में पुलिस ने किसी तरह का दबाव बनाकर कार्रवाई की तो पदाधिकारी आंदोलन को मजबूर होंगे।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस