मेरठ (जेएनएन)। पिछले कुछ समय से जमीन पर आए प्रोपर्टी कारोबार ने इस बार उड़ान भरी है। नवरात्र से धनतेरस तक शहरवासियों ने जमकर संपत्ति की खरीद की। पिछले वर्ष के मुकाबले इस बार संपत्ति की खरीद-बिक्री में बीस प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। ऐसा तब है जब इस बार नवरात्र में सर्वर डाउन रहने के कारण बैनामा आदि में काफी दिक्कत रही।
संपत्ति खरीद को माना जाता है शुभ
नवरात्र में संपत्ति खरीद को हमेशा से शुभ माना गया है। रजिस्ट्री विभाग भी नवरात्र में राजस्व का लक्ष्य पूरा करने के लिए तैयार रहता है। लेकिन पिछले कुछ वर्षो में प्रोपर्टी की खरीद और बिक्री का बाजार काफी ठंडा रहा। पिछले रिकार्ड को देखते हुए इस बार भी रजिस्ट्री विभाग को कुछ कम उम्मीद थी। लेकिन इस बार शहरवासियों ने प्रोपर्टी कारोबार में जान फूंक दी। 10 अक्टूबर से शुरू हुए नवरात्र के नौ दिनों में ही हुए कारोबार के कारण रजिस्ट्री विभाग को 25 करोड़ से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ, जो पिछले वर्ष के मुकाबले बीस प्रतिशत अधिक था। नवरात्र के बाद भी कारोबार चमका रहा और धनतेरस तक चमक बरकरार हैं। लोगों के एक बार फिर से निवेश के लिए संपत्ति को पहली पसंद बनाने से प्रोपर्टी कारोबार से जुड़े लोग भी खुश हैं।
आधी आबादी रही आगे
संपत्ति की खरीद में इस बार भी महिलाएं ही आगे रही। संपत्ति के बैनामा कराने में महिलाओं और पुरुषों का औसत 55 और 45 का रहा। महिलाओं के नाम हुई संपत्ति में सबसे अधिक प्लाट और मकान रहे। जबकि पुरुषों ने दुकान, फ्लेट और प्लाट अपने नाम कराए।
इनका कहना है
पिछले वर्ष के मुकाबले इस बार संपत्ति कारोबार तेज है। राजस्व लक्ष्य में वृद्धि हुई है। लोग फिर से संपत्ति कारोबार में निवेश कर रहे हैं।
-वीके तिवारी, एआइजी स्टांप

खरीद-बिक्री की 2018 की स्थिति

  • 48.02 - करोड़ था अक्टूबर का लक्ष्य
  • 36.19 - करोड़ का राजस्व हुआ प्राप्त
  • 3787 - बैनामे अक्टूबर में हुए

वर्ष 2017 की स्थिति

  • 47.93 - करोड़ था अक्टूबर का लक्ष्य
  • 29.60 - करोड़ का राजस्व हुआ प्राप्त
  • 2936 - बैनामे अक्टूबर में हुए थे

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस