मेरठ, जेएनएन। चंडी मंदिर की फर्जी समिति बनाने का विवाद गहराता जा रहा है। मंगलवार को ब्राह्माण समाज और व्यापारियों ने डिप्टी रजिस्ट्रार का घेराव किया। साथ ही समिति के भंग नहीं होने पर सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी।

मंगलवार दोपहर को बड़ी संख्या में ब्राह्माण समाज के लोग और व्यापारी मोहनपुरी स्थित फर्म सोसाइटी व चिट फंड कार्यालय पहुंचे। उन्होंने डिप्टी रजिस्ट्रार का घेराव किया। प्राचीन श्री चंडी देवी मंदिर नौचंदी ग्राउंड मेरठ समिति के महामंत्री संजय शर्मा ने कहा कि चंडी मंदिर उनकी पैतृक संपत्ति में है। सालों से उनका परिवार मंदिर की देखरेख कर रहा है। कुछ लोगों ने मंदिर के नाम पर फर्जी समिति बना ली है। इसकी शिकायत वे पुलिस से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों तक से कर चुके हैं। फर्जी समिति में व्यापारी, नेता और शिक्षाविद् शामिल हैं। चार नवंबर को एडीएम को दस्तावेज भी दिखाए थे। उन्होंने कहा कि दो साल पहले प्रबंधक महेंद्र शर्मा और अधिवक्ता देवेंद्र शर्मा ने डिप्टी रजिस्ट्रार को फर्जी समिति बनाए जाने की जानकारी दी थी। उनसे कहा था कि यदि कोई ऐसा मामला सामने आए तो उनको भी सूचित किया जाए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। आरोपितों ने मिलीभगत कर फर्जी समिति का गठन कर लिया। ब्राह्माण एकता समिति के अध्यक्ष आशु शर्मा ने कहा कि यदि फर्जी समिति को भंग नहीं किया गया तो ब्राह्माण समाज सड़कों पर आंदोलन करेगा। इस दौरान अश्वनी कौशिक, गिरिश शर्मा, सुरेंद्र शर्मा, दर्शन शर्मा, पवन शर्मा, पीयूष वशिष्ठ, नीरज कौशिक, राजीव भारद्वाज, सुभाष शर्मा, जितेंद्र दीक्षित, तुषार चौधरी, विपिन जोशी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस