मेरठ, जेएनएन। मेरठ और आसपास के जिलों में ब्‍लैक फंगस का कहर कुछ कम हुआ है। शुक्रवार को ब्लैक फंगस के दो नए मरीज लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज में भर्ती हुए। जबकि छह मरीजों की स्वस्थ होने पर छुट्टी की गई। कोरोना महामारी के साथ ब्लैक फंगस के केस भी अब कम आ रहे हैं। मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस वार्ड में कुल 41 मरीज भर्ती हैं। जिनमें से 11 कोरोना पाजिटिव और 30 निगेटिव हैं। इनमें से 12 मरीज आइसीयू में गंभीर अवस्था में भर्ती हैं। वहीं, एक मरीज आनंद हास्पिटल में और एक मरीज न्यूटिमा हास्पिटल में चिंहित किया गया है। इस तरह कुल पांच नए मरीज मिले हैं।

कोरोना से दो मौत, 18 नए मरीज

शुक्रवार को 5932 सैंपलों की जांच में कोरोना संक्रमित कुल 18 नए मरीज मिले। जबकि दो मरीजों की मौत की पुष्टि की गई। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि विभिन्न सेंटरों पर कुल 92 मरीज इलाज पर हैं। होम आइसोलेशन पर 206 मरीज हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 372 है। कुल 78 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं।

डीएम बोले-टीकाकरण के लिए करें प्रेरित

मेरठ में कोरोना महामारी के नियंत्रण के लिए किए जा रहे प्रयासों को लेकर जिलाधिकारी ने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा की। समीक्षा बैठक में स्वस्थ्य विभाग के चिकित्सकों के साथ यूनीसेफ, यूएनडीपी और डब्ल्यूएचओ के अधिकारियों के साथ मंथन किया गया। इस दौरान डीएम ने टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित किया। साथ ही संक्रमण नियंत्रण में रहे, इसके लिए लगातार प्रयास करने के निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी के. बालाजी ने कहा कि कोरोना टीकाकरण कराने के लिए आमजन को अधिक प्रेरित किया जाए और उनको बताया जाए की कोरोना का टीका लाभकारी होने के साथ कोरोना से बचाव में सहायक है।

यह दिए गए निर्देश

सभी एमओआईसी से कहा कि वह प्रतिदिन कोरोना के संबंध में आरटीपीसीआर जांच की संक्रमण दर की जांच करें और इसको न बढऩे दें। अभियान के दौरान कोरोना मरीज मिलता है उसकी कांटेक्ट ट्रेसिंग ठीक प्रकार से कराने के साथ एक्टिव केस सर्च भी गंभीरता से कराया जाए। जिलाधिकारी ने कंकरखेड़ा, खरखौदा, परीक्षितगढ़, रजवन, साबुन गोदाम व मलियाना में संक्रमण अपेक्षाकृत अधिक होने पर संबंधित एमओआईसी को निर्देशित किया कि वह आरटीपीसीआर टेङ्क्षस्टग को बढ़ाएं। इसके अलावा परीक्षितगढ़, भूड़बराल, शकूर नगर, रजपुरा, मवाना, सरूरपुर, रोहटा आदि क्षेत्रों में कांटेक्ट ट्रेसिंग अपेक्षाकृत कम होने पर नाराजगी जाहिर करते हुए इसे बढ़ाने के लिए निर्देशित किया। इस दौरान सीएमओ डा. अखिलेश मोहन , एसडीएम सदर संदीप भागिया, नगर मजिस्ट्रेट एसके ङ्क्षसह, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीण गौतम, डा. पूजा शर्मा, डा. वेद प्रकाश शर्मा, यूनिसेफ, विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारी शामिल रहे। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt