बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। रालोद सुप्रीमो जयंत चौधरी ने कहा देश-प्रदेश की भाजपा सरकार किसानों के प्रति संवेदनहीन है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लखीमपुर खीरी घटना के बाद जन्मदिन की बधाई के ट््िवट तो किए, लेकिन शहीद किसानों, कश्मीर में मृत शिक्षकों को श्रद्धाजंलि देने को एक शब्द भी नहीं लिखा। सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था, ढाई माह बचे हैं, सरकार बताए किसानों की आय क्यों दोगुनी नहीं हुई।

सभा में निशाने पर रही केन्द्र व प्रदेश सरकार

अगौता के गांव पीपाला में बुधवार को आशीर्वाद पथ सभा में पूर्व सांसद जयंत चौधरी के निशाने पर केन्द्र-प्रदेश सरकार रही। किसानों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा भाजपा सरकार में खेतीहर मजदूर व किसान परेशान है। रालोद ने प्रदेश में चीनी मिलों का जाल बिछाया। चीनी उद्योग स्थापित किया। इससे किसानों को फसल का वाजिब दाम मिला। अब पूर्ण बहुमत की सरकार के बाद भी किसान बेहाल है। वादा खिलाफ सरकार ने गन्ने का दाम केवल 35 पैसे किलो बढ़ाया है। उन्होंने केन्द्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्रा को बचाने का केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया। कहा कि सरकार का कोई ईमान नहीं बचा है। लखीमपुर खीरी में मृत किसानों तेरहवीं में जाने से उन्हें व विपक्षी नेताओं को रोका गया।

लगातार बढ़ रही महंगाई, आम आदमी परेशान

बिजली, गैस, पेट्रोल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। आम आदमी परेशान है। न्याय देने का दावा करने वाली योगी सरकार इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार को आज तक न्याय नहीं दिला पायी। प्रदेश हत्या, अपहरण, महिला उत्पीडऩ, रंगदारी, दुष्कर्म में नंबर वन बन गया है। कोरोना में लोग बर्बाद हो गए। देश के दो उद्योगपतियों की संपत्ति दोगुनी हो गयी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गठबंधन सरकार बनी तो पुलिस विभाग में 2005 की प्रकाश सिंह की सिफारिश लागू की जाएंगी। सम्मान निधि 12 हजार व होनहार युवाओं को विदेश में पढऩे को छात्रवृत्ति दी जाएगी। रालोद नेता कुंवर नरेन्द्र सिंह ने कहा कि युवा व किसान एकजुट होकर भाजपा सरकार को उखाड़ फेंके, तभी किसानों को न्याय मिलेगा। सभा की अध्यक्षता मोदूद अली व संचालन जिलाध्यक्ष अरूण चौधरी ने किया। मृत किसानों की आत्मा की शांति को दो मिनट का मौन रखा गया।

Edited By: Prem Dutt Bhatt