बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। Azadi Ka Amrit Mahotsav आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आजादी के बलिदानियों की वीरगाथा का बखान करने के लिए बिहार के पश्चिम चंपारण समेत तीन जगह से शुरू हुई केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की साइकिल यात्रा मंगलवार को खुर्जा पहुंची। जहां पर यात्रा का भव्‍य स्वागत किया गया। बुधवार को यात्रा सिकंदराबाद के लिए रवाना हो जाएगी।

लोगों में भर रहा जोश

आजादी के 75 साल पूरे होने पर मनाया जा रहा अमृत महोत्सव लोगों में जोश भर रहा है। सीआईएसएफ की साइकिल रैली आने की जानकारी होने के बाद से ही स्वागत की तैयारी की जा रही थी। मंगलवार दोपहर होते ही जंक्शन मार्ग स्थित सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में लोग एकत्र होने लगे। यात्रा आने से पहले ही सीआईएसएफ के सीओ संजीव कुमार के नेतृत्व में एक टीम स्कूल पहुंच गई। जब करीब 2:15 जवानों ने साइकिल लेकर नगर में हाईवे से प्रवेश किया, तो उनका फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया। जिसके बाद स्कूल पहुंचने पर ढोल-नगाड़ों के बीच एसडीएम लवी त्रिपाठी समेत अन्य लोगों ने पुष्पवर्षा कर यात्रा का स्वागत किया। जिसके बाद विद्यालय परिसर में सेना के जवान और एसडीएम ने तीन पौधे रोपित किए।

75 स्थानों से साइकिल यात्रा

इस दौरान सीआईएसएफ के इंस्पेक्टर श्यामलाल कुमार ने बताया कि अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में देश के ऐसे 75 स्थानों से साइकिल यात्रा निकाली जा रही है। जहां पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने स्वतंत्रता आंदोलन छेड़ा था। साइकिल यात्रा दो अक्टूबर को दिल्ली के राजघाट पहुंचेगी। वहां समापन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जनपद कन्नौज से उनके साथ काकेरी व बिठुर से निकाली गई यात्रा के जवान भी शामिल हो गए।

35 जवान खुर्जा पहुंचे

ऐसे में बुलंदशहर के खुर्जा में 35 जवान साइकिलों पर सवार होकर पहुंचे। वहीं यात्रा में सीआईएसएफ के 86 जवान रहे। उन्होंने बताया कि यात्रा का मुख्य उद्देश्य अहिंसा, एकता और आपसी भाईचारे का संदेश देना है। यात्रा के दौरान यही संदेश वह लगातार लोगों को दे रहे हैं।

बुधवार को सिकंदराबाद में रूकेगी यात्रा

सीआईएसएफ सीओ संजीव कुमार ने बताया कि बुधवार सुबह को खुर्जा से यात्रा सिकंदराबाद के लिए निकेली। जहां पर रात्रि विश्राम होगा और उसके बाद यात्रा का अगला स्टाप गाजियाबाद होगा।

Edited By: Prem Dutt Bhatt