मेरठ,जेएनएन। दीपावली के मौके पर फूलों की खेती करने वाले किसानों में खासा उत्साह है। मुख्य तौर पर गेंदे के फूल की खेती करने वाले किसानों के लिए साल में दो ही ऐसे त्योहार आते हैं, जिन पर उन्हें अच्छे दाम मिलने की उम्मीद रहती है। दीपावली के त्योहार पर घरों से लेकर विभिन्न सजावटों में विशेष तौर पर गेंदे के फूल का इस्तेमाल मुख्य रूप से किया जाता है। इन दिनों किसान विशेष तैयारी करते हैं। खेत में लगभग प्रतिदिन फूल तोड़े जा रहे हैं। इस समय किसानों को फूल के दाम 20 से 40 रुपये प्रति किलो तक मिल रहे हैं। उम्मीद है कि दीपावली पर सौ रुपये प्रति किलो तक दाम मिल सकते हैं। यही फूल जब बाजार में दुकान या ठेले पर बिकता है तो दस से बीस रुपये प्रति माला के हिसाब से ग्राहकों को मिलता है।

कई गांवों के किसानों में उत्साह

फलावदा, सरधना व लावड़ आदि कस्बे के पास कई ऐसे गांव हैं। जिसमें इस समय फूलों की खेती प्रमुखता से हो रही है। सरधना ब्लॉक के छोटे से गांव मौजीपुरा के किसान महावीर सैनी शाम के वक्त गेंदे के फूलों को खेत से तोड़कर मंडी के लिए तैयार कर रहे हैं। महावीर का कहना है कि दीपावली तक फूल के दामों में उछाल आएगा। जिससे उनकी भी दीपावली अच्छी मनेगी। फलावदा के आसपास गड़ीना, बातनौर, नंगला हरेरू, मौजीपुरा, बड़ागांव, नंगला काटर व नैडू आदि गांवों के किसान गेंदे की खेती में व्यस्त हैं।

1 एकड़ में 25 हजार की लागत

मौजीपुरा निवासी सोमपाल सैनी का कहना है कि एक एकड़ गेंदे की खेती में सभी खर्चे मिलाकर लगभग 25 हजार की लागत आती है। अब आमदनी के लिए किसान को दामों के उतार-चढ़ाव पर निर्भर रहना पड़ता है। दीपावली के दिनों में फूलों का दाम 100 रुपये प्रति किलो तक मिल जाता है। यही फूल जब बाजार में पहुंचता है तो दुकान या ठेले पर बीस रुपये में एक माला बिकती है। यदि अच्छे दाम मिल जाते हैं तो एक औसत आमदनी मिल जाती है।

गुलाब व कमल महंगा

दीपावली पर गुलाब के फूलों की माला 40 रुपये से 80 रुपये के बीच बाजार में बिक रही है। जबकि कमल का एक फूल 50 से 100 रुपये तक दीपावली पर बिकने के आसार हैं। दीपावली पर फूलों का बाजार भी सजा हुआ है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप