मेरठ, जेएनएन। लावड़ में पुलिस पिटाई का मामला अभी ठंडा नहीं पड़ा था कि परतापुर के काशी में फिर पुलिस पर हमला कर दिया। दारोगा को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। पुलिस उल्टे पांव लौट गई। थाने से अतिरिक्त पुलिस बल बुलाकर एक महिला समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। दारोगा टीम के साथ अवर अभियंता पर हमला करने के आरोपितों को पकड़ने गए थे।

बिजली विभाग की टीम को दौड़ाया था
परतापुर थाना क्षेत्र के काशी गांव में एक माह पहले विद्युत विभाग की टीम अवर अभियंता जय चंद्रशेखर मौर्या के नेतृत्व में शराफत के घर पर बिजली चोरी पकड़ने गई थी। बिजली की टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर उल्टे पांव दौड़ा दिया था। जेई की तरफ से शराफत के परिवार को सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में नामजद किया था। शनिवार को चौकी इंचार्ज अमर सिंह कांस्टेबल लाखन के साथ अकेले ही दबिश डालने चले गए, जबकि पहले उक्त गांव में बिजली विभाग की टीम की पिटाई हो चुकी। उसके बावजूद भी पुलिस बल साथ लेकर दबिश नहीं दी गई।

दारोगा की वर्दी तक फाड़ डाली
नतीजा सामने आया कि ग्रामीणों ने पुलिस की टीम को घेरकर हमला कर दिया। दारोगा को गिरा गिरा कर पीटा। वर्दी तक फाड़ दी गई। दारोगा और कांस्टेबल ने भागकर जान बचाई। वायरलैस सेट से मामले की जानकारी थाने पर दी गई। इंस्पेक्टर आनंद मिश्र पुलिस बल के साथ काशी गांव में पहुंचे। उसके बाद आरोपित शराफत अली पुत्र मोहम्मद, अली रिहान पुत्र शराफत, अख्तर पुत्र जहीर और नसरीन प}ी शराफत को पकड़कर थाने ले आई। दारोगा अमर सिंह की तरफ से चार नामजद और छह अज्ञात में सरकारी कार्य में बांधा डालने और पुलिस पर मारपीट करने का मुकदमा दर्ज किया। बता दें कि उक्त परिवार के लोग पहले से पुलिस पर हमला करते आए है। पुलिस उक्त लोगों की गिरफ्तारी को योजनाबद्ध तरीके से दबिश देती थी।

इनका कहना है
काशी गांव में दबिश के दौरान पुलिस पर हमला किया गया। महिला समेत चार हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया। सरकारी कार्य में बांधा डालने और मारपीट का मुकदमा दर्ज कर लिया है। बाकी फरार आरोपितों की धरपकड़ की जा रही है।
- अखिलेश नारायण सिंह, एसपी सिटी 

Posted By: Prem Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप