मेरठ, जेएनएन। जिला एथलेटिक संघ ने शनिवार शाम आनलाइन श्रद्धांजलि सभा आयोजित की। उड़न सिख मिल्खा सिंह के निधन पर सभी ने शोक प्रकट किया। भारतीय एथलेटिक संघ के उपाध्यक्ष उत्तर प्रदेश एथलेटिक एसोसिएशन के चेयरमैन आशुतोष भल्ला ने कहा कि एथलेटिक्स के इस नुकसान की भरपाई कर पाना संभव नहीं है।

उप्र एथलेटिक एसोसिएशन के सचिव पीके श्रीवास्तव ने कहा कि उनका प्रदर्शन ही एथलीट्स के लिए प्रेरणा होती थी। क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी आले हैदर ने कहा कि मिल्खा सिंह ने ही भारत का नाम विश्व पटल पर स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज कराया और कई दशकों तक उनके रिकार्ड कायम रहे। जिला एथलेटिक संघ के सचिव अनु कुमार सहित संघ के पदाधिकारियों मूलचंद, मुनेंद्र, प्रशांत, अमित, विक्रम, अरुण कुमार आदि ने श्रद्धासुमन अर्पित किया।

---

खिलाड़ियों ने मैदान पर की शोक सभा

जागरण संवाददाता, मेरठ : शनिवार सुबह एथलीट्स ने मिल्खा सिंह की याद में शोक सभा आयोजित की। जिला एथलेटिक संघ के कोच गौरव त्यागी ने मलियाना मैदान में सुबह सैकड़ों एथलीट्स के साथ मौन धारण कर मिल्खा सिंह को श्रद्धाजलि दी।

उद्यमिता में नवाचार व रचनात्मकता होना आवश्यक

मोदीपुरम : शोभित विवि में पांच दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता डा. नेहा वशिष्ठ ने उद्यमिता के बारे में कहा कि नए उद्योग को लगाने के लिए नए विचारों की आवश्यकता है। इसमें कैसे बिजनेस प्लान तैयार किया जाए, कहां से नया व्यापार करने को धन अर्जित किया जाए। नए कार्य के लिए अपने अंदर नवाचार व रचनात्मकता का होना जरूरी है। पुरातन छात्र व उद्यमी संजय बंसल ने छात्रों को उद्योग शुरू करने के समय होने वाली परेशानियों के बारे में बताया। डा. अशोक कुमार गुप्ता आदि ने भी अपने विचार रखे।

Edited By: Jagran